गोपनीय सूचनाओं के प्रकाशन पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया था

गोपनीय सूचनाओं के प्रकाशन पर प्रतिबंध क्यों लगाया गया था

Why was the publication of confidential information banned

publication of confidential information banned


लॉर्ड डरफिन के बाद लॉर्ड लैंसडाउन ने शासन संभाला इस के शासन काल में "अमृत बाजार पत्रिका" मैं ब्रिटिश सत्ता की राजनैतिक स्वार्थों की पूर्ति से संबंधित एक कथित सरकारी दस्तावेज प्रकाशित किया जिसमें यह बताया गयाा था कश्मीर के महाराजा के निष्कासन का मूल कारण राजा की जनता के प्रति दमनकारी होना नहीं था वरन उसकी पीछे मूल उद्देश्यय गिलगित पर ब्रिटिश सरकार का कब्जा करना था लॉर्ड लैंसडाउन नेे इस को नकली बताया और पत्र के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की किंतु 17 अक्टूबर 1887 को एक कानून पारित किया गया जिसमेंं राजकीय दस्तावेजोंं  तथा सूचनाओं को सामने लााने पर रोक लगा दी गई इस कानून केे अंतर्गत दस्तावेज अनधिकृत रूप से रखने अथवा अनाधिकृत व्यक्ति को उसकी जानकारी देने पर 1 वर्ष की जेल अथवा जुर्माना दोनों सजाएं देने का प्रावधान कियाा गय किसी विदेशी एजेंट  ऐसी सूचनाएं अथवा दस्तावेज देनेेे पर देश निकाला दे दिया जाएगा 5 साल की जेल भी होगी ऐसा प्रावधान था.
Share via WhatsApp