Bus in Uttarakhand: उत्तराखंड में दोगुना हुआ बसों का किराया


UTC Bus Rates


उत्तराखंड में बस का सफर करना पड़ सकता है यात्रियों को महंगा महामारी अधिनियम प्रभावी रहने यह नियम लागू रहेगा उसके पश्चात पुराने नियमों का पालन किया जाएगा उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश में बसों के किराए को दोगुना करने की बात कही है और इसमें वृद्धि की गई है महामारी अधिनियम लागू रहेगी परंतु एक्ट हटने पर किराए में भारी गिरावट आएगी और पुराने किराए की तरह ही यातायात बसें चलेंगी बसों में खासतौर से सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखे जाने का प्रावधान है जिसमें 50% यात्री को भी एक बस में बिठाया जाएगा लेकिन दूसरी राज्यों के लिए यात्रा शुरू होने पर रूटों पर भी बढ़ी दरों से किराया लिया जाएगा बृहस्पतिवार को सचिवालय में मुख्यमंत्री मंडल की बैठक में अट्ठारह प्रस्तावों पर चर्चा की गई शासकीय प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि कोविड-19 के कारण उत्तराखंड में बसों को सोशल डिस्टेंसिंग मानकों के अनुरूप 50% सवारी ही मान्य होगी लेकिन बस संचालकों ने 50% सवारी के मौजूदा किराया दर  को स्वीकारने से इंकार किया और इस पर भारी दुख जताया है और अब इससे बस टैक्सी और यात्रा करने पर आपको भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है जहां आप का किराया पहले आध था वहां अब डबल हो चुका है ऐसे में मजदूरों गरीब लोगों को सफर करना बेहद ही कठिन हो चुका है आम आदमी कितना किराया नहीं दे सकता है जहां अभी बसें आधी से भी कम सवारिया द जा रही है और बस मालिकों को इसका भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है बहन की छमता अनुसार बस मालिक अपना खर्चा अधिक किराया लेकर वसूल करेंगे जिससे उनको कोई समस्या का सामना ना करना पड़े