Social Highlight-Rudraprayag : कवि कलाकार सतपाल


न्यूज़ पोर्टल : आपकी मीडिया की खास रिपोर्ट : -
एक मीटर की दूरी होगी सुरक्षा पूरी घर से बाहर निकलते ही मास्क पहनना जरुरी, कोरोना के खिलाफ कम करें मिलाप, गाँव- गाँव संदेश पहुंचाओ कोरोना को हर हाल हराओ, कोरोना से डरें नहीं डट कर सामना करें, सामाजिक दूरी बहुत जरूरी, सिर्फ सामाजिक दूरी रखें

 सामाजिक भेदभाव नहीं, कोरोना से शरीर व अफवाहों से कानों को बचायें शासन का सहयोग कर मजबूत नागरिक बनकर दिखायें, गाँव गाँव संदेश पहुंचाओ घर में रहकर कोरोना को हराओ, होम क्वारंटीन में ठहरे लोगों की देखभाल की जिम्मेदारी हम सब की भागीदारी, होम क्वारंटीन में रुके लोगों की देखभाल करे उनसे भेदभाव नहीं, मास्क अवश्य पहनें,

 इस तरह खुद के श्लोगन व वाल राइटिंग एव वाल पेटिंग सार्वजनिक व निजि स्थानों पर लिख कर जनपद रुद्रप्रयाग के अन्तर्गत लगभग दो महिने से नि:शुल्क व निस्वार्थ भाव से कार्य कर के कोरोना महामारी के खिलाफ जन जागरुकता कर रहे हैं ग्राम - कणसिली (पिंगलापानी) उच्छाढुंगी रुद्रप्रयाग निवासी युवा  कवि कलाकार लेखक व उभरते समाजसेवी - सतपाल
जिनकी पुस्तक सफलता की उम्मीद पढ़ने से यह पंक्ति उचित बैठती हैं सतपाल के जज़्बे पर

" कोई गरीब है गम मत करना, हौंसला अपना कम मत करना। 
सदा उन्नति के पथ पर चलना , कुल का दीपक बनकर जलना।।

Kavi Satpal Slogan

" मैं अकेले ही चला था खुद चलुंगा राह पर रोक न सकेगा मुझको आंधी या तूफान डर।
 कोई साथ दे न दे खुद का साथ निभाऊंगा, जितनी भी मुश्किलें हो उनको खुद मिटाऊंगा।।

Wall Painting


बिल्कुल सत्य कथन है उक्त पंक्तियों में कवि सतपाल के कार्य पर कि इंसान के पास सिर्फ साधन होने व गरीब होने से उसको उसके मार्ग से कोई नहीं हटा सकता है

 अगर इंसान में कुछ करने का जज्बा हो तो उसे कोई नहीं रोक सकता इंसान अपने नेक व अच्छे कार्यों से बहुत कुछ कर सकता है, कवि सतपाल द्वारा कक्षा १२में अध्ययन करते करते  बहुत छोटी उम्र में ही  अपनी कवि संग्रह पुस्तक का प्रकाशन किया गया था, 

कवि सतपाल द्वारा कक्षा १२ से स्नातक की शिक्षा तक चार स्वरचित कविता संग्रह पुस्तकों का सफल प्रकाशन भी किया जा चुका है युवा कवि सतपाल द्वारा वर्तमान में कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के खिलाफ अपनी कलम व कला द्वारा जिस प्रकार अपनी नि:शुल्क व निस्वार्थ जन सेवा दी जा रही है वाकई बहुत सराहनीय कदम है ।



सूत्रों के मुताबिक़ :- कवि सतपाल ने अपने गांव कणसिली ( पिंगलापानी ) के सार्वजनिक स्थान पर सबसे पहले कोरोना से बचाव के लिए वाल राइटिंग की जिसमें उन्होंने लिखा कि हमें कैसे कोरोना से बचना है,

 जिसकी फुटेज व वीडियोज़ उन्होंने जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग को प्रेषित की व सतपाल ने जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग को पत्र लिखा जिसमें इन्होंने जनपद के अन्तर्गत हर सार्वजनिक स्थानो का चयन कर उस पर कोरोना से बचाव  के श्लोगन वाल पेटिंग आदि नि:शुल्क नि स्वार्थ जन सेवा करने की बात की थी जिस पत्र को देखते हुए  जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग ने युवा कवि सतपाल को इस पहल को करने की शुभकामनाएं देते हुए मंजूरी दी व सतपाल तब से जिले के अन्तर्गत हर सार्वजनिक व निजी स्थानों पर जा कर कोरोना से बचाव करने के लिए संदेश लिख रहे हैं

 व लोगों को जागरूक करने में अहम भूमिका निभा रहे हैं व साथ ही साथ जिस स्थान पर वह श्लोगन लिखते हैं अगल  बगल अगर कोई बिना मास्क पहने दिखाई देता है तो उनको नि:शुल्क मास्क वितरित कर देते हैं, जहाँ कोरोना महामारी के खौफ से लोग अपने घरों में कैद हैं 


वहीं कवि सतपाल द्वारा जोखिम उठाकर हर रोज जनपद के अन्तर्गत किसी न किसी क्षेत्र जाकर सार्वजनिक स्थानो पर वाल राइटिंग व वाल पेटिंग कर लोगों को जागरूक किया जाता है वो भी बिना किसी सरकारी गैरसरकारी आर्थिक अनुदान  व मदद के, इतनी जनसेवा व जन भाव अगर किसी युवा में है तो यह हमारे लिए व हमारे आम जनमानस तथा समाज के लिए प्रेऱणा का विषय है,

 कवि सतपाल के इस नि:स्वार्थ जन भाव की प्रशंसा करते हुए  बहुत सारे ग्राम प्रधान सामाजिक संगठनों ने उन्हें बधाई/प्रशंशा  पत्रों   से सम्मानित किया व कर रहे  है,

 जिसमे सर्व प्रथम जिला पंचायत अध्यक्ष रुद्रप्रयाग अमरदेई शाह ने कवि सतपाल को कोरोना संकट काल में किये गए कार्य को सराहनीय बता कर प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया , उत्तराखंड दैनिक न्यूज़ पोर्टल, उत्तराचल पंजाबी महासभा देहरादून ,थानाक्षेत्र पोखरी चमोली, ग्राम प्रधान:-  जयकंण्डी किणझांणी, लमगौण्डी, द्वारा सम्मान पत्र देकर प्रशंसा की गई।


Satpal Wall Writing



 सोशलमीडिया के माध्यम से सतपाल अपनी वीडियोंज व फुटेज देश के कौने - कौने  तक पहुँचा रहे हैं जिससे लोगों जागरुक हो सके व कोरोना से अपना बचाव कर सकें ,

कवि सतपाल की कोरोना के खिलाफ जो जन जागरूकता अभियान की पहल है उसकी सराहना करते हुए सोशलमीडिया के माध्यम से -: डीएसपी अनुज कुमार बडकोट  उत्तरकाशी, धर्मेन्द्र कुमार सीए स्वास्थ्य विभाग लखनऊ उत्तर प्रदेश, पूर्व विधायक

 शैला रानी रावत केदारनाथ विधानसभा, लक्षमण सिह नेगी वरिष्ठ पत्रकार ऊखीमठ, शशि देवली कवियत्री गोपेश्वर चमोली, अश्विन गौड कवि शिक्षक, नितिश भंडारी कवि, देवानंद गैरोला शिक्षक, लखपत सिंह राणा चैयरमेन डा जैक्सवीन स्कूल गुप्तकाशी, उर्मिला राणा प्रधानाध्यापिका, विजय बैरवांण शिक्षक , मंदाकिनी की आवाज रेडियो स्टेशन  आदि ने कवि सतपाल को दी बधाई व शुभ कामनाएं ।

सोशलमीडिया के माध्यम से कवि सतपाल ने बताया कि उनका मक्कसद जन जागरुकता अभियान के माध्यम से पब्लिसिटी नहीं बल्कि पब्लिक को जागरूक करना है,

 और जब तक हो सके तब तक करता रहूंगा व जन जागरुकता के तहत रुद्रप्रयाग के कौने कौने को जागरूक व सोशलमीडिया का उपयोग कर वीडियोज़ व फुटेज से हर व्यक्ति तक यह जन संदेश पहुंचाने का प्रयास करता रहूंगा , कवि सतपाल ने यह भी बताया कि सिर्फ मै ही नहीं बहुत सारे लोग अपने अपने स्तर से इस विकट समय में अपना योगदान देने में जरुर आगे आयें, व जिले राज्य देश को कोरोना मुक्त बनाएं।
  


कवि सतपाल जी ने अब तक कई गांव में जाकर मास्क मुफ्त में बितरित कर लोगो को कोरोना खिलाफ शासन द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों का पालन करने को भी कहा हे जिसके साथ उनकी यह विडिओ उन्होंने हमे साझा किया है।