Some One Help Please:- अगस्त्यमुनि रुद्रप्रयाग से हरी सिंह

अगस्त्यमुनि रुद्रप्रयाग से हरी सिंह ने की मदत की गुहार- बच्ची की जान खतरे में 

Arushi


एक बीमार बच्ची के माता-पिता ने लगाई है मदद की गुहार यह खबर सामने आई है ग्राम बस्टी  विकासखंड अगस्त्यमुनि रुद्रप्रयाग उत्तराखंड से जिस लड़की का नाम आरुषि है बच्चे के पिता का नाम हरी सिंह हे यह गांव में ही मजदूरी का काम करते हैं 
उसी से वह अपने बच्चों का पालन पोषण करते हैं कोविड-19 इस महामारी में उनके लिए एक बहुत ही बेहद संकट का विषय सामने आ खड़ा हो चुका था उनकी बच्ची और उसी जिसकी उम्र 10  साल है जिसके  फेफड़ों में पानी भर जाना और किडनी का खराब होना जैसी भयंकर बीमारी से जूझ रही है

 क्षेत्रीय जनता से लड़की के पिता द्वारा भारी अनुरोध किया गया तमाम बड़े नेताओं बड़ी समाज सेवा कार्यकर्ता को अनुरोध लगाकर आर्थिक मदद करने की गुहार लगाई है बच्ची के पिता के पास अधिक धन ना होने के कारण वह बच्ची का इलाज नहीं करवा पा रहे हैं 

जिसके कारण परिवार में संकट का विषय बना हुआ है बच्चे के पिता उसको श्रीनगर गढ़वाल के हॉस्पिटल ले गए जहां डॉक्टर ने बताया की बच्ची के फेफड़े और किडनी में विकृति पैदा हो चुकी है 

जीसे  जल्द से जल्द वेंटिलेटर में न रखा गया  तो उनको भारी-भरकम हानि हो सकती है तथा बच्ची की जान भी जा सकती है ऐसे में बच्ची के माता-पिता के पास एक ही रास्ता बचता है जो की  आप से मदद की गुहार कर रहे हैं आप सभी लोगों से उनका अनुरोध है 

आप उनको मदद करें उनकी बच्ची को बचाने के लिए उनके टोटल 7  बच्चे हैं जिसमें एक लड़का और बाकी लड़कियां हैं  अपनी लड़की के इलाज के लिए इनके पास पैसे ही नहीं है लड़की के माता पिता  लाचार होकर विवश होकर आप से मदद की गुहार लगाई है लड़की के पिता ने कहा अगर आप लोग थोड़ा थोड़ा मेरी मदद करें तो मैं अपनी बच्ची का इलाज करवा  सकू। 

Medical Reports Arushi


जिसमें अगस्त्यमुनि के पूर्व छात्र संघ के  उपाध्यक्ष श्री आशीष चंद्र जी ने अपनी फेसबुक पोस्ट से यह पोस्ट कर कहा  यह बच्ची बहुत ही दयनीय स्थिति में है इस बच्ची के पिता हरि सिंह जो ग्राम बस्टी  विकासखंड अगस्त मुनि रुद्रप्रयाग जो कि एक बेरोजगार हैं 

और  मजदूरी का काम करते हैं जिनकी 7 लड़कियां और एक लड़का है जिन का इलाज श्रीनगर हॉस्पिटल में चल रहा था लेकिन आर्थिक कमजोरी  होने के कारण उनको वापस आना पड़ा इलाज का खर्चा उठाने मैं असमर्थ थे और डॉक्टर ने बच्ची को देहरादून के अस्पतालों में दिखाने अथवा एक और पीजीआई चंडीगढ़ के डॉक्टर को दिखाने की सलाह दी आप भी इस बच्ची की मदद कर सकते हैं 

अपनी सहयोग राशि भेज करके सहयोग राशि भेजने के लिए नीचे लड़की के पिता का नाम उसका खाता संख्या और आईएफएससी कोड दिया है जिसे आप गूगल पर बैंक ट्रांसफर फोन पर पेटीएम इत्यादि जगहों से कर सकते हैं

 आपका एक कदम किसी की जान बता सकता है आप लोग जितना हो सके शेयर करें आपके कांटेक्ट में जितने लोग हैं सब को बताएं ताकि सब लोग इनकी मदद के लिए आगे आएं इस बच्ची के लिए और लोगों से जन  निधियों से समाज सेवी संस्थाओं से निवेदन है इस मुसीबत की घड़ी में इस मासूम बच्ची की जान बचाने में अपना बहुमूल्य सहयोग दें