On Page SEO कैसे करें? Headings कैसे लिखें ?

 

On Page SEO कैसे करें?

आप ब्लॉगिंग सीखना चाहते हो या स्टार्ट कर रहे हे On Page SEO कैसे करें?  आपके लिए पोस्ट बेहद ज्यादा हेल्पफुल होने वाली हे  इस पोस्ट में ब्लॉगर में SEO फ्रेंडली URL और टाइटल कैसे  लिखें?  और ब्लॉग को कैसे रैंक करवाना हे  Headings कैसे लिखें ?  और काफी कुछ बताने वाला हु लास्ट तक जरूर पढ़े  इससे पहले कि हम ब्लॉग शुरू करने के चरणों के बारे में चर्चा करें , मैं आपको एक बात बताता हूं।

फटा फट ऑनलाइन कमाने के लिए ब्लॉगिंग सबसे प्रभावी और लोकप्रिय तरीका है।  यह तभी संभव है जब आप हर दिन कुछ घंटे कम से कम 3 बार अपने ब्लॉग को समय दीजिये उससे ज्यादा महत्वपूर्ण आपको उस बिषय में रूचि होनी जरुरी हे जिसका आप ब्लॉग सुरु कर हैं 

आपके पास मात्रा में कंटेंट होना चाहिए जिस चीज़ को आप अपने ग्राहकों के सामने रखना चाहते हो आपके पास पर्याप्त मात्रा में इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए इसके बिना आप कुछ नहीं कर सकते।  ब्लॉगिंग क्या है Blog बनाकर उस पर हर रोज पोस्ट डालना,पब्लिश करना औऱ उसे अच्छे से डिज़ाइन करना Blogging कहलाता है

Blog पर किसी भी विषय पर लिख सकते है और साथ ही इंटरनेट की दुनिया में कदम रख सकते है  Blog के जरिये आप ऑनलाइन पैसे भी कमा सकते है जैसे बहुत से लोग पैसा कमा रहे है  ब्लॉगिंग किस सब्जेक्ट पर करें कैसे करें blogging किसी भी विषय पर कर सकते है जैसे खेल, स्पोर्ट्स, इंटेरेंमेन्ट, हेल्थ,टेक्नोलॉजी जिस भी विषय में आपकी रुचि है 
 
वेबसाइट बनाने के लिए आपको कई तरह की web designing की जानकारी की जरूरत होती है और इसे बनाने में पैसे लगते है जबकि blog एक फ्री सर्विस है ब्लॉगिंग के लिए ये स्टेप्स बाय स्टेप इनका प्रयोग करें सबसे पहले अपना ब्लॉगर में अपना खाता बनाये अपने ब्लॉग नाम बनाये ब्लॉग का नाम सबसे अलग रहे और आसानी से याद होने वाला हो सरल हो. अपना ब्लॉग की ऑनलाइन वेब ​​होस्टिंग करें ब्लॉगर पर फ्री हे। 

  1. अपने ब्लॉग को एक मुफ्त थीम के साथ डिज़ाइन करें
  2. अपना पहला ब्लॉग पोस्ट लिखें
  3. अपने ब्लॉग को बढ़ावा दें और पैसे कमाएँ
  4. एक सफल ब्लॉग सामग्री रणनीति विकसित करें
  5. अपने ब्लॉग पर एक नियमित प्रकाशन कार्यक्रम का टाइम टेबल बनाये
  6. अपने ब्लॉग पोस्ट को रैंक करने के लिए मुफ्त फ़ोटो और डिज़ाइन का उपयोग करें
अपने ब्लॉग का नाम चुनें आपके ब्लॉग का नाम वही है जो पाठक पहले देखेंगे (जैसे yourblog.com ) इसलिए इसे अच्छे से रखें आपके ब्लॉग का अलग प्रकार है जिसे आप अपनी कैटगिरी पर केंद्रित करेंगे। उदहारण के लिए जैसे यात्रा, भोजन, फैशन, जीवन शैली, प्रौद्योगिकी, और अन्य जैसे विषय शामिल हैं।

ब्लॉग का अड्रेस ऐसे हो जैसे foodsbykrish.com , fasionbyjane.com अपने हिसाब रखे ब्लॉग के लिए वेबहोस्टिंग ले या डोमेन खरीदये ब्लॉगर से सुरु कर रहे हे तो आपको डोमिन नाम की जरुरत हे होस्टिंग आपको ब्लॉगर फ्री में दे देगा वर्डप्रेस में कर रहे हो तो आपको आपको होस्टिंग खरीदनी होगी इश्के लिए काफी पैसो जरुरत हे सुरुवात करने के लिए आप ब्लॉगर से ही सुरु करें, हलाकि यहाँ रैंक करने के लिए कोई टूल नहीं हे 

ब्लॉगर आपको फुल सिक्योरिटी देता गूगल का अपना सहयोग आपको मिल जाता हे जब आप ब्लॉगिंग में महारथ हासिल कर दो तभी वर्डप्रेस या दूसरे प्लेटफार्म की और जायें।  ब्लॉगिंग लिए सस्ता और अच्छा डोमेन होस्टिंगर से खरीद सकते हे कोसिस गूगल रहे की गूगल का डोमेन करें

एक मुफ्त ब्लॉगर थीम के साथ अपने ब्लॉग को डिज़ाइन करें ब्लॉगर के लिए मुफ्त सिंपल थीम प्रयोग करे थीम में स्लाइड न हो ध्यान रखे सफ़ेद बैकग्राउंड की होनी चाहिए नए ब्लॉगर बिना सोचे समझे अधिक रंग बिरंगी template को अपने ब्लॉग में लगा लेते है जबकि यह गलत तरीका है गूगल सिंपल और fast लोडिंग template को ज्यादा पसंद करता है।

  1. SEO friendly, मोबाइल फ्रेंडली और adsense ready support करती हो, theme का इस्तेमाल करना चाहिये।
  2. गूगल आपके ब्लॉग पर तब ही एडसेंस अप्रूवल देगा जब आपके ब्लॉग का template SEO friendly होगा।

कौन सा Blogging Platform चुने

Hosted Self-Hosted
Hosted ब्लॉग हम free में बना सकते हैं. Self-Hosted ब्लॉग बनाने के लिए कुछ पैसे invest करने पड़ते हैं.
फीचर बहुत ही कम होते हैं. फीचर की कोई कमी नहीं होती.
ब्लॉग पर हमारा कंट्रोल बहुत कम होता हैं. ब्लॉग पर हमारा पूरा कंट्रोल होता हैं.
Theme बहोत ही limit में होते हैं. यहाँ unlimited theme मिल जाते हैं .
Domain के साथ extention use करना पड़ता हैं. खुद का domain use कर सकते हैं.
Platform Examples : wix.com, Blogger/Blogspot.com, WordPress.com etc Platform Example : WordPress.org

Keyword Research

किसी भी article को लिखने से पहले keyword research जरुर करे keyword क्या होता है, कोई भी जानकारी हासिल करने के लिए सर्च इंजन पर कियें search को keyword कहतें है Example. अगर आप सर्च इंजन पर सर्च करते है “Blog se Paise kaise kamaye” तो यह एक keyword है

आप हमेशा वो ही keyword का चयन कर जिसमें सर्च Volume ज्यादा हो और competition low हो ऐसे keyword को रैंक करवाना आसान होता है और Post पर ट्रैफिक भी काफी आता है

Keyword Research Best Tools

  1. Google Keyword Planner
  2. Ahrefs
  3. Google Trends
  4. Keyword Generator
  5. Answer the Public
  6. Keyword Surfer
  7. Keyworddit
  8. Bulk Keyword Generator
  9. Questiondb

SEO फ्रेंडली URL और टाइटल लिखें?

  1. Title में 55-60 character होने चाहिए जिससे Search Result में Title पूरा दिखे
  2. Blog Post का Target Keywords भी Title में होना चाहिए।
  3. Title आपकी Blog Post किस बारे में यह अच्छे से बताता हो।
  4. Title आकर्षक होना चाहिए। ताकि जब लोग Search Results में Title को देखें तो आकर्षक होकर उस पर Click करे।
  5. URL में शब्दो को अलग करने लिए “-” का उपयोग करें।
  6. URL को छोटा रखने की कोशिश करे जिसके लिए आप अतिरिक्त part को URL में से हटा सकते है।
  7. इसके लिए आपको URL को manually edit करना होता है

Headings कैसे लिखें ?

  1. पोस्ट के अंदर HTML में एक ही हेडिंग टैग का उपयोग करे
  2. अन्य हेडींगों के लिए H1,H2,H3 हेडिंग टैग HTML में ही लिखे
  3. ब्लॉगर में हेडिंग के लिए Subheading, Minner heding होने चाहिए
  4. हेडिंग हमेशा पोस्ट से रेलेटेड और आकर्षक रखें
  5. Post अंदर के मुख्य Sections को H2 Tag में लिखना चाहिए
  6. Subsection को H3 tag में लिखना चाहिए।
  7. पोस्ट Structure बनाने की वजह से Post की Headings को सही तरीके से arrange करना आसान हो जाता है


पोस्ट लिखने के लिए सही तरीके का इस्तेमाल करें इस प्रकार लिखें


जब आप पेराग्राफ लिखें तो 20 शब्दो से कम वाले अलग अलग पेराग्राफ लिखें आप जब नयी Blog पोस्ट लिखते है उस Post को Blog की पुरानी Post की Internal Links जोड़ना चाहिए।
SEO Techniques में Internal Linking बहुत ही effective और आसान तरीका है जिसके निम्न फायदे है।
  1. Internal Links के द्वारा search engine नए Pages को खोज पाता है
  2. जब page को scan करने पर नयी URL देखता है तो उस नए पेज को Index कर लेता है।
  3. Links को Post में जोड़कर Search को बताया जाता है की page किस Topic के बारे में हैं
  4. Search engine समझ जाएगा कि यह Post भी SEO के बारे में है।
  5. लोगो को पोस्ट के Topic को विस्तार में जानकारी देने का यह अच्छा तरीका है
  6. जिसके द्वारा आप link जोड़कर लोगों को पोस्ट के बारे में नयी जानकारी पढ़ने का मौका देते है।
  7. Internal Linking मजबूत होने पर आपको bounce Rate कम होती है users Blog पर अधिक time खर्च करते है।

Post में Keywords का उपयोग करना



  1. Post के Title में
  2. Post URL में (यदि संभव हो तो)
  3. मुख्य Heading में
  4. Post Content में
  5. Conclusion में (Post के आखिर में)

मान लो आपका कीवर्ड SEO कैसे करते हे ,औरबेस्ट कीवर्ड टूल,हे इश्को अपनी पोस्ट में जोड़ना चाहते हे
Example: आज में आपको बताऊंगा SEO कैसे करते हे ब्लोग्गर के लिए बेस्ट कीवर्ड टूल कोनसा हे

High Quality Content लिखे

अगर आपके article की content quality low होगी तो आपकी पोस्ट सर्च इंजन में रैंक नहीं करेगीं आप जब भी कोई article लिखने बैठें तो उसे पुरे दिल से लिखें user पढता ही रह जाए उसे ऐसा लगना चाहिए कि उसे जो चाहिए था वो उसे Post से मिला है

Search Engine को ऐसे content पसंद आते है permalink को optimize करना On-page SEO का बहुत महत्वपूर्ण part है. यह आपकी पोस्ट को रैंक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है पोस्ट में image का प्रयोग करते समय Alt tag में अपने main keyword को उसमें use करे Image का नाम भी आपका keyword होना चाहिए

Image की Description में अपने Post से relate जानकारी डाले पोस्ट में image का size 700*400 होना चाहिए इससें पोस्ट पर image का load कम होता है अपनी पोस्ट के कुछ keyword को bold करदें इससें सर्च इंजन आपके पोस्ट को अच्छी तरह से समझ पाएगा

Meta Description

  1. मिटा डिस्क्रिप्शन मे जब कोई गूगल सर्च करता तो टाइटल के नीचे आपका कीवर्ड भी दीखता हे
  2. जिससे सर्च इंजन ढूंढ़ने में मदत मिलती हे आपकी पोस्ट रैंक करती हे
  3. Google क्लिक-थ्रू-दर (CTR) का उपयोग एक तरीके के रूप में करता है
  4. मिटा डिस्क्रिप्शन मे इसे 155 अक्षरों तक रखें
  5. मिटा डिस्क्रिप्शन मे अपने फ़ोकस कीवर्ड का उपयोग करें

अपने ब्लॉग के लिए बैक लिंक्स बनाये

बैक लिंक्स क्या होते है


  1. बैकलिंक्स हमारी वेबसाइट को गूगल में रैंक कराने के लिए बहुत जरूरी होते हैं
  2. जब किसी वेबसाइट को किसी बाहरी (या दूसरी) साइट से कोई link मिलता है तो उसे Backlink कहते हैं।
  3. बैकलिंक्स ("इनबाउंड लिंक्स", "इनकमिंग लिंक" या "वन वे लिंक्स" के रूप में भी जाना जाता है
  4. एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट के एक पेज के लिंक होते हैं।
  5. Google और अन्य प्रमुख खोज इंजन एक विशिष्ट पृष्ठ के लिए "वोट" पर विचार करते हैं।
  6. अधिक संख्या में बैकलिंक्स वाले पृष्ठों में उच्च जैविक खोज इंजन रैंकिंग होती है।

अपने ब्लॉग पोस्ट को Twitter, Linkedin और Facebook पर स्वचालित रूप से पोस्ट करें

  1. IFTTT का अर्थ है यदि यह, तो वह, और नाम व्यावहारिक रूप से आत्म-व्याख्यात्मक है।
  2. यदि आपके द्वारा सेट किए गए कई ट्रिगर्स में से एक होता है,
  3. तो सेवा आपके द्वारा नामित कई कमांड को सक्रिय करती है ।
  4. जब मैं इस ब्लॉग पर एक पोस्ट प्रकाशित करता हूं, तो आदर्श रूप से मैं चाहता हूं
  5. कि इसे स्वचालित रूप से होबो फेसबुक पेज, लिंक्डइन, Google प्लस और ट्विटर प्रोफाइल पर साझा किया जाए।
  6. यदि आपने इसके बारे में नहीं सुना है, ifttt.com बहुत उपयोगी है।


पुराने ब्लॉग पोस्ट में “Images को कैसे Optimize करें"

  1. Https://developers.google.com/speed/pagespeed/insights/ का उपयोग करके पृष्ठ चलाएँ
  2. एक बार जब पृष्ठ गति अंतर्दृष्टि परीक्षण आपके एकल पृष्ठ पर चला जाता है
  3. तो इस पृष्ठ के लिए " अनुकूलित छवि, जावास्क्रिप्ट और सीएसएस संसाधन "डाउनलोड करें" का विकल्प होता है।
  4. डाउनलोड और स्थानीय छवियों फ़ोल्डर के लिए स्वचालित रूप से अनुकूलित नई फ़ाइलों की प्रतिलिपि बनाएँ एफ़टीपी के माध्यम
  5. से उन्हें मूल रूप से कॉपी करके मैन्युअल रूप से फिर से अपलोड करें।