Yatra e-Pass - Badrinath-Kedarnath e pass registration 2020

uttarakhand char dham yatra e pass registration

आप यात्रा के लिए uttarakhand char dham yatra e pass registration, की आवस्यकता है। Char Dham Biometric registration करना अब आसान है, Badrinath, Kedarnath, Gangotri, Yamunotri temples में जाने के लिए तीर्थयात्रियों को चारधाम यात्रा के लिए ई-पास मिलेगा । 

Char Dham Yatra -2020  में चारधाम तीर्थयात्रियों को बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री कोविड  -19 में आने वाले सभी तीर्थयात्रियों के लिए चारधाम यात्रा के लिए पंजीकरण कराना अनिवार्य है । सभी तीर्थयात्रियों को चारधाम यात्रा मार्ग में प्रवेश करने और चारधाम मंदिरों में दर्शन लेने के लिए ई-पास की आवश्यकता होती है। 

सभी तीर्थयात्रियों को जिला अधिकारियों के चेक पोस्ट पर अपनी थर्मल स्कैनिंग करनी होगी।  डीएम द्वारा सभी तीर्थयात्रियों के लिए सभी निर्धारित स्वास्थ्य प्रोटोकॉल की व्यवस्था की गई है। 


Char Dham Yatra -2020 के लिए सभी निर्धारित किये गए चेक पोस्ट पर थर्मल स्कैनिंग के दौरान यदि किसी तीर्थयात्री को उच्च तापमान के साथ पाया जाता है, तो उसे तीर्थ यात्रा और COVID-19 परीक्षण (RT-PCR / ANTIGEN / TRUENAT / CBNAAT) की अनुमति नहीं दी जाएगी।

किसी भी तीर्थ यात्री को Char Dham Yatra -2020 के दौरान कोरोना टेस्ट के समय नेगटिव [पाया जाता है तो उसको यात्रा करने से रोक दिया जायेगा।


How to register for Char Dham Yatra online?

 uttarakhand char dham yatra e pass registration, करने के लिए आपको Uttarakhand Char Dham Devasthanam Management Board की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पूछी गए जरुरी जानकारियों  होगा जिसका प्रोसेस इस प्रकार हे। 

  • अप्लाई ई-पास पर क्लिक करें।
  • सहमत नियम और शर्तें।
  • आवश्यकतानुसार विवरण भरें । (फोटो आईडी और पता प्रमाण अपलोड करना सहित सभी आवश्यक भरण-पोषण अनिवार्य है)
  • OTP और CAPTCHA को प्रोसेस करना है।
  • समूह के सदस्यों का विवरण भरें।
  • जाने के लिए दिनांक और मंदिर का चयन करें।
  • यदि कोई भी समूह सदस्य किसी विशेष मंदिर का दर्शन नहीं करना चाहता है, तो उसे रद्द किया जा सकता है।
  • यात्रा ई-पास डाउनलोड करें।
  • तीर्थयात्री, जो किसी विशेष मंदिर में कोई विशेष पूजा (सभी विशेष पूजाएँ अगली सूचना तक गैर-उपस्थित होंगे) करना चाहते हैं, ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से पूजा को अलग से बुक करना होगा। उसी रसीद को यात्रा ई-पास माना जाएगा। कृपया ध्यान दे आपके द्वारा दिया गया सभी जानकारिया हो,