कुटकी अनेक बिमारियों मैं लाभकारी है ऐसें करें कुटकी चिरायता का उपयोग

कुटकी का पौधा
कुटकी का पौधा

कुटकी अनेक बिमारियों मैं लाभकारी है कुटकी चिरायता का उपयोग करना आसान है लेकिन आपको इसको एक बार पूरा जान लेना चाहिए तभी आप कुटकी चिरायता का उपयोग सही तरीके से कर पाएंगे, कुटकी क्या है कुटकी का क्या-क्या फायदे है जानने के लिए सुरु से अंत तक जरूर पढ़िए, इसके साइड इफेक्ट्स भी हैं जिनको ध्यान मैं रखकर आपको यह करना चाहिए। 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कुटकी क्या है , कैसे काम करता है 

कुटकी एक आयुर्वेदिक ओषधि है जिसका बिस्तृत वर्णन पंतजलि ने किया है कुटकी ओषधि आपके सरीर की अनेकों बिमारियों को ठीक करता है कुटकी जड़ी-बूटी औषधीय गुणों से भरपूर है कुटकी औषधि से पीट, कफ, पेट की परेशानी, बुखार, टीबी, बवासीर, डायबिटीज जैसी बिमारियों को ठीक करने मैं लाभकारी है। 

कुटकी के फायदे

  1. बुखार मैं कुटकी का उपयोग बेहद ही असर कारक होता है 20 ML कुटकी के काढ़े मैं 10 से 12 ग्राम घी मिलाकर बुखार ठीक हो जाता है। 
  2. टायफाइड मैं कुटकी का सेवन करना बेहद फादेमंद होता है इससे टायफाइड जल्दी ठीक हो जाता है। 
  3. कुटकी लिवर के लिए भी असर कारक माना जाता है यह आपके लिवर की कोशिकाओं की मरम्मत करता है। 
  4. कुटकी कब्ज दूर करने मैं सहायक सिद्ध होता है आयुर्वेद के अनुसार कुटकी मैं भेदन गुण पाया जाता है। 
  5. आपको अगर सफ़ेद दाग हैं तो कुटकी के फायदे आपके लिए हैं कुटकी मैं एंटीऑक्सीडेंट का और इम्यूनोमॉडुलेटरी होता है सफ़ेद दाग ठीक करने मैं सहायक है। 
  6. वजन घटाने मैं भी कुटकी बेहद असर दिखता है इसका सेवन करने पर वजन घटने मैं।

चिरायता क्या होता है। 

चिरायता यह एक औषधि है इसका उपयोग भूख बढ़ाने, स्तनों मैं दूध की बृद्धि करने मैं, खांसी को दूर करने, पेट के कीड़े, पेचिस ठीक करने, पिलाया उतारने, पाचन तंत्र को ठीक करने मैं आयुर्वेद द्वारा उपयोग किया जाता है। 

चिरायता आयुर्बेदिक उपचार मैं कैंसर जैसी ला-इलाज बीमारी को भी ठीक करने मैं सहायक है यह कुबड़ापन की समस्या को भी दूर करता है जो की चिरायता बेहद ही गुणकारी है यह औषधि गुणों से भरपूर है। 

कुटकी के नुकशान कुछ इस प्रकार होतें हैं। 

औषद्यीय गुणों से भरपूर होने के साथ-साथ कुटकी के साइड इफेक्ट्स ( Side Effects) भी होते है जिससे आपको नुक्सान हो सकता है कुटकी का उपयोग करने से पहले वैद्य (डॉक्टर्स) द्वारा परामर्श अवस्य लीजिये, कुटकी से से होने वाले नुकसान प्रकार हैं-

  1. आपकी त्वचा जलन हो सकती है। 
  2. ठंडे मैं रहने से जल्दी बुखार आ सकता है। 
  3. आपको पेचिश की शिकायत हो सकती है। 
  4. आपके पेट मैं गैस की प्रॉब्लम बढ़ सकती है। 

 कुटकी औषधि का उपयोग करने से पहले डॉक्टर द्वारा सलाह अवस्य लीजिये जिससे आपको अधिक लाभ मिल सके और जोखिम से बचे रहो।

Share social media

मेरे सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, में काफी वर्षों से पत्रकारिता में कार्य कर रहा हूं और मैंने अपनी पढ़ाई भी मास्टर जर्नलिश्म से पुरी किया है। मुझे लिखना और नए तथ्यों को खोज करना पसन्द है। मुझे नई जानकारी के लिए न्यूज पेपर की अवश्यकता नहीं पड़ती में खुद इनफॉर्मेशन हासिल करने में रुचि रखता हूं। साथ ही वेबसाईट बनाना, seo, जैसी स्किल में महारथ हासिल है।

error: Content is protected !!