पुरुषों के लिए सफेद गोंद मोरिंगा के हैं खास फायदे जानें यहां हिंदी में बेनिफिट्स

पुरुषों के लिए सफेद गोंद मोरिंगा के हैं खास फायदे

सहजन यानी मोरींगा पुरुषों के लिए मोरिंगा के लिए फायदे ही फायदे हैं इसके आप यहां सब फायदे जानेंगे मार्केट में मोरिंगा टेबलेट भी आता है आप इस के फायदे जानकर आश्चर्य में जरुर पड़ जायेंगे मोरींगा आमतौर पर पुरूषों में प्रजनन को फायदेमंद होता है सफेद गोंद मोरिंगा के फायदे पुरूषों में बेहद असरकारक है  आज आपको बताएंगे की सफेद गोंद मोरिंगा क्या होता है और गोंद मोरिंगा के फायदे इन हिंदी में यहां बताए गए हैं।

पुरुषों के लिए मोरिंगा के फायदे

पुरुषों के लिए मोरिंगा अस्थमा के लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करता है और मोरींगा महिलाओं और पुरुषों में सांस फूलने की स्थिति में राहत देता है। आयुर्वेद के अनुसार, अस्थमा में शामिल मुख्य दोष वात और कफ हैं। दूषित 'वात' फेफड़ों में विक्षिप्त 'कफ दोष' के साथ जुड़ जाता है, जिससे श्वसन मार्ग में रुकावट आती है। इससे सांस लेने में दिक्कत होती है। इस स्थिति को स्वस रोग (अस्थमा) के रूप में जाना जाता है। मोरिंगा का सेवन कफ को संतुलित करने और फेफड़ों से अतिरिक्त बलगम को निकालने में मदद करता है। इससे अस्थमा के लक्षणों से राहत मिलती है।

मिरिंगा का सेवन ऐसे करें

  1. 1/4- 1/2 चम्मच मोरिंगा पाउडर लें।
  2. शहद या पानी के साथ मिलाएं।
  3. अस्थमा के लक्षणों को प्रबंधित करने के लिए इसे दोपहर और रात के खाने के साथ लें मोरिंगा।

मोरिंगा टेबलेट के फायदे

  • दमा । प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि 3 ग्राम मोरिंगा को 3 सप्ताह तक रोजाना दो बार लेने से अस्थमा के लक्षणों की गंभीरता कम हो जाती है और हल्के से मध्यम अस्थमा वाले वयस्कों में फेफड़ों की कार्यक्षमता में सुधार होता है।
  • मधुमेह । प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि मोरिंगा टैबलेट को सल्फोनीलुरिया नामक एक प्रकार की दवा के साथ लेने से मधुमेह वाले लोगों में अकेले सल्फोनीलुरिया लेने से बेहतर रक्त शर्करा नियंत्रण में सुधार नहीं होता है।
  • स्तन के दूध का उत्पादन बढ़ाना । स्तन दूध उत्पादन बढ़ाने के लिए मोरिंगा के प्रभावों के संबंध में अनुसंधान परस्पर विरोधी है। कुछ शुरुआती शोध से पता चलता है कि मोरिंगा दूध उत्पादन को बढ़ाता है, जबकि अन्य शुरुआती शोध से कोई फायदा नहीं हुआ है। पांच नैदानिक अध्ययनों के आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि मोरिंगा एक सप्ताह के उपयोग के बाद दूध उत्पाद को मामूली रूप से बढ़ाता है जब प्रसवोत्तर दिन 3 शुरू होता है। लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि मोरिंगा लंबे समय तक उपयोग करने पर फायदेमंद है या नहीं।
  • कुपोषण । प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि मोरिंगा पाउडर को 2 महीने तक भोजन में शामिल करने से कुपोषित बच्चों में वजन में सुधार होता है।
  • रजोनिवृत्ति के लक्षण । प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि 3 महीने तक ताजा मोरिंगा के पत्तों को भोजन में शामिल करने से रजोनिवृत्ति के लक्षणों में सुधार होता है जैसे कि स्वस्थ, पोस्टमेनोपॉज़ल महिलाओं में गर्म चमक और नींद की समस्या।

सफेद गोंद मोरिंगा के 8 फायदे

सफेद गोंद मोरिंगा के फायदे :- इसका इस्तेमाल शरीर की कई परेशानियों को दूर करने के लिए किया जा (सफेद गोंद मोरिंगा क्या होता है) सकता है. स्किन की चमक को बढ़ाने से लेकर मसूड़ों से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने के लिए सफेद गोंद या मोरिंगा गोंद का इस्तेमाल किया जा सकता है.

सूखने पर ये भूरा रंग का और काफी कड़ा हो जाता है. आप जिस पेड़ का गोंद खाएंगे उसके औषधीय गुण भी गोंद में आते है

  1. मोरिंगा में विटामिन ए भरपूर रूप से होता है. यह स्किन की खूबसूरती को बढ़ाने में मददगार हो सकता है. स्किन की ड्राईनेस और दाग-धब्बों को दूर करने के लिए आप सफेद मोरिंगा गोंद का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  2. सफेद गोंद का इस्तेमाल हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी को दूर करने में फायदेमंद हो सकता है. इसके लिए सफेद मोरिंगा गोंद का नियमित रूप से सेवन करें.
  3. जो लोग सुबह गोंद और आटे से बने लड्डू खाकर दूध पीते हैं उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.
  4. बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं को गोंद के लड्डू खिलाए जाते हैं. इससे दूध ज्यादा बनता है.
  5.  प्रेगनेंट महिलाओं के लिए गोंद फायदेमंद माना जाता है. इससे रीढ़ की हड्डी मजबूत बनती है. 
  6. पाचन संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए सफेद गोंद का इस्तेमाल किया जा सकता है. यह दस्त, पेचिश, कोलाइटिस जैसी परेशानी को दूर करने में प्रभावी हो सकता है. इसके लिए नारियल पानी में 1 चम्मच सफेद गोंद और 1 चम्मच शहद मिक्स कर लीजिए.
  7. सफेद गोंद को विटामिन ए पाया जाता है. विटामिन ए स्किन के लिए अच्छा माना जाता है. सफेद गोंद को डाइट में शामिल कर मुंहासे, झुर्रियों से छुटकारा पा सकते हैं.
  8.  इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए आप गोंद से बने लड्डूओं को डाइट में शामिल कर सकते हैं. इससे इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में मदद मिल सकती है.

और नया पुराने