कार फर्स्ट पार्टी, थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्लेम व स्टेटस के साथ प्रीमियम चार्ट पीडीऍफ़ और एजेंट कैसे बनें

आपके लिए आज हम थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्लेम व थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है और थर्ड पार्टी इन्शुरन्स के फायदे, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स क्लेम स्टेटस, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स हॉस्पिटल लिस्ट, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट कैसे बने, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स प्रीमियम चार्ट, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स प्रीमियम चार्ट डीऍफ़ में, first पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है, फर्स्ट पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है, थर्ड पार्टी बीमा क्या होता है, थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है, कार इंश्योरेंस कितने का होता है सबके के बारे में बताएँगे शुरू से लेकर लास्ट तक जरूर पढ़ना आपके सारे सवालों के जवाब आपको यहाँ मिल जायेंगे। 

कार फर्स्ट पार्टी, थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्लेम व स्टेटस के साथ प्रीमियम चार्ट पीडीऍफ़ और एजेंट कैसे बनें

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्लेम करें 

अगर कोई भी दुर्घटना हो जाये तो आपको सबसे पहले FIR दर्ज करना आपके लिए जरुरी होता है। उसके बाद एक्सीडेंट में हुए छति या नुकसान की पूरी डिटेल्स अपनी इन्शुरन्स कम्पनी को भेजनी है। थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्लेम करने के लिए कुछ जरुरी डॉक्युमेंट्स लगाने होते हैं जैसे की – वाहन के मालिक और उनके हस्ताक्षर किए गए क्‍लेम का फॉर्म, पॉलिसी के साथ FIR की कॉपी, गाड़ी के RC या रजिस्ट्रेशन के डॉक्यूमेंट्स, DL ( ड्राइविंग लाइसेंस ) और RC की कॉपी की फोटो कॉपी लगती है। इंश्योरेंस कंपनी का कोई एजेंट है तो उससे बात करके अपने दस्तावेजों के बारे में बताकर अपना थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्लेम कर सकते हैं। 

थर्ड पार्टी इन्शुरन्स क्या होता है और थर्ड पार्टी इन्शुरन्स के फायदे

अगर आप थर्ड पार्टी इन्शुरन्स करते हैं तो थर्ड पार्टी इंश्योरेंस दुर्घटना पर तीसरे पक्ष के आर्थिक हानि की भरपाई बीमा कंपनी करती है। जब दुर्घटना होती है तो तीसरे पक्ष की मृत्यु हो जाती है तो इसका भुकतान बीमा कंपनी करती है। थर्ड पार्टी इन्शुरन्स के फायदे कार, बाइक या अन्य व्हीकल के एक्सिडेंट जाये तो एवं उसमें किसी की आर्थिक शरीर का नुकसान होता है। इसके नुकसान की भरपाई वाहन मालिक को करनी होती है। तो उसके नुकसान की भरपाई भी बीमा कंपनी करती है। इसकी जिम्मेदारी भी इंश्योरेंस कंपनी की ही होती है। इसमें भी कई प्रकार के मुआवजे शामिल होते हैं। 

  • मृत्यु या शारीरिक क्षति पर मुआवजा,
  • अन्य व्यक्ति के वाहन और संपत्ति की क्षति पर मुआवजा, 
  • कानूनी और अस्पताल संबंधी खर्चों का भुगतान आदि शामिल है.

स्टार हेल्थ इन्शुरन्स क्लेम स्टेटस को चेक करने के लिए स्टेप्स 

आपको स्टार हेल्थ इन्शुरन्स क्लेम स्टेटस चेक करने के लिए ऑनलाइन माध्यम से कस्टमर पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं। आपको निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना है। चलिए सुरु करते हैं।

स्टेप : 1 आपको स्टार हेल्थ इन्शुरन्स की वेबसाइट पर जाना है और दाँयीं और के कोने में लोग इन बटन पर क्लिक करना है। और स्टार हेल्थ इंश्योरेंस ग्राहक पोर्टल पर लॉगिन करें और ड्रॉप-डाउन से ‘रिटेल कस्टमर’ पर क्लिक करें।

स्टेप : 2 यदि आप एक नए ग्राहक हैं, तो आपको ‘रजिस्टर नाउ’ पर क्लिक करके खुद को पंजीकृत करना होगा और अपने सभी व्यक्तिगत विवरण दर्ज करना होगा। इसे पोस्ट करें; आप एक पासवर्ड उत्पन्न करने में सक्षम होंगे जिसका उपयोग आप पोर्टल तक पहुंचने के लिए कर सकते हैं। एक बार आपका पासवर्ड जनरेट हो जाने के बाद, आप अपने ईमेल और पासवर्ड का उपयोग करके पोर्टल में लॉग इन कर सकते हैं। आप एक डैशबोर्ड का उपयोग कर सकेंगे जहां आप स्टार हेल्थ से खरीदे गए अपने सभी व्यक्तिगत विवरण और नीतियों को देख सकते हैं।

स्टेप : 3 पॉलिसी नंबर पर क्लिक करें और आप पॉलिसी के सभी विवरणों जैसे कि पॉलिसी नामांकन तिथि, पॉलिसी अवधि और पॉलिसी की स्थिति की जांच कर सकेंगे।

स्टार हेल्थ इंश्योरेंस टिकट प्लेटफॉर्म से करें स्टेटस चेक 

स्टार हेल्थ इंश्योरेंस में एक समर्पित टिकट प्लेटफॉर्म भी है जो आपको ग्राहक सेवा प्रतिनिधि के साथ आपकी समस्या पर विस्तार से चर्चा किए बिना किसी भी प्रकार की क्वेरी को बढ़ाने में मदद करता है। आप उस विशिष्ट क्वेरी का चयन कर सकते हैं आपके पास है और इसे ऑनलाइन जमा करें। 

यदि आपने कोई पॉलिसी खरीदी है, लेकिन यह अभी तक जेनरेट नहीं हुई है, तो आप इस लिंक पर जा सकते हैं, और नीचे दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं:

टिकट सूचना क्षेत्र में, ‘संपर्क नाम’ फ़ील्ड में अपना नाम दर्ज करें। यह नाम वह नाम होना चाहिए जिसे आपने पॉलिसी खरीदते समय दर्ज किया है।

इसके बाद, उप श्रेणी में, ड्रॉप-डाउन सूची से ‘पॉलिसी जेनरेट नहीं की गई’ चुनें। अगले कारण फ़ील्ड में, उस मोड का चयन करें जिसके द्वारा आपने पॉलिसी खरीदी थी, और उप-कारण में, उल्लेख करें कि यह एक नई नीति है या a) नवीकरण

डिस्पैच फ़ील्ड में, चुनें कि क्या पॉलिसी आपको हार्ड कॉपी या सॉफ्ट कॉपी फॉर्मेट में भेजी गई थी।

इसके बाद, सीपीयू फ़ील्ड में, उस क्षेत्र को दर्ज करें जिसमें आप रहते हैं, ताकि आपकी क्वेरी का आकलन करना आसान हो। इसके बाद स्क्रीन पर अनुरोध किए गए अन्य सभी व्यक्तिगत विवरण दर्ज करें और ‘सबमिट’ पर क्लिक करें।

स्टार हेल्थ इन्शुरन्स हॉस्पिटल लिस्ट

आप स्टार हेल्थ इन्शुरन्स हॉस्पिटल लिस्ट को अपने नजदीकी अस्पताल देख सकते हैं जिनकी पहचान स्टार हेल्थ इन्शुरन्स कम्पनी द्वारा बीमित व्यक्ति को परेशानी मुक्त चिकित्सा सहायता के साथ-साथ तेजी से निपटान के समय में मदद करने के लिए की जाती है, जिससे समग्र आनंददायक अनुभव प्राप्त होता है आप अपने नजदीकी हॉस्पिटल की लिस्ट https://www.starhealth.in/network-hospitals के लिंक पर देख सकते हैं यह लिंक आपको सीधा सर्च पेज पर ले जायेगा। 

स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट

Star Health Insurance Agents list : स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट को देखने के लिए आपको निचे दिए गए लिंक पर जाना है और वहां अपना स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट के नाम से उसे सर्च करना है फिर आपको अपने एजेंट की पूरी जानकारी प्राप्त हो जाएगी जिससे आपको आसानी होगी अपने स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट तक पहुँचने में आप इसका इस्तेमाल अपने मोबाइल से कर सकते हैं यह रहा स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट को ढूढ़ने का लिंक https://www.starhealth.in/agent-list

स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट कैसे बने

स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट बनने के लिए कम्पनी समय समय पर भर्तियां निकालती रहती है आप अपनी योग्यता के अनुसार मिनिमम 12 इन पास के साथ स्टार हेल्थ इन्शुरन्स एजेंट बन सकते हैं इसके लिए आपको स्टार हेल्थ इन्शुरन्स की आधिकारिक वेबसाइट पर करीयर वाले सेक्शन में विजिट करना है आपको यहाँ रिक्तियों की जानकारी प्राप्त होगी। जिससे आप अप्लाई करके सीधा भर्ती प्रक्रिया अपना सकते हैं या फिर अधिक जानकारी के लिए अपने एजेंट से संपर्क करें।

1. फर्स्ट ( first ) पार्टी इन्शुरन्स

 बीमा अनुबंध में, प्रथम पक्ष उस व्यक्ति को संदर्भित करता है जो बीमा खरीदता है। इस प्रकार, कार बीमा पॉलिसी में कार मालिक पहला पक्ष है। यह पहली पार्टी है जो बीमा प्रीमियम का भुगतान करती है और मोटर बीमा पॉलिसी के तहत लाभ या मुआवजा प्राप्त करने का दावा करती है । 

2. सेकंड पार्टी बीमा या इंश्योरेंस

जिस बीमा कंपनी से कार मालिक या प्रथम पक्ष कार पॉलिसी खरीदता है उसे द्वितीय पक्ष कहा जाता है। यह दूसरी पार्टी है जो किसी भी नुकसान या क्षति के मामले में पहली पार्टी की कार को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करने का वादा करती है। बदले में, पहला पक्ष दूसरे पक्ष को प्रीमियम राशि का भुगतान करने के लिए उत्तरदायी होता है। 

3. थर्ड पार्टी बीमा या इंश्योरेंस

चार पहिया बीमा के तहत पहली पार्टी और दूसरी पार्टी के अलावा किसी भी व्यक्ति को थर्ड पार्टी माना जाता है। यह किसी भी व्यक्ति को संदर्भित करता है जो बीमाकृत कार चलाते समय पहले पक्ष के कार्यों से प्रभावित होता है। तीसरा पक्ष कोई भी हो सकता है और उसे पहले या दूसरे पक्ष का परिचित होना आवश्यक नहीं है। उदाहरण के लिए, यह सड़क पर चलने वाला पैदल यात्री या आपके सामने चलती कार का मालिक हो सकता है। मोटर बीमा पॉलिसी के तहत, दूसरे पक्ष को पहले पक्ष की ओर से तीसरे पक्ष को हुई किसी भी चोट, हानि या क्षति के लिए भुगतान करने के लिए उत्तरदायी है। याद रखें कि यह पहली पार्टी है जो अपने वाहन के लिए सबसे अच्छी कार बीमा पॉलिसी खरीदने के लिए दूसरे पक्ष के साथ अनुबंध शुरू करती है।

कार इंश्योरेंस कितने का होता है

यह कार इंश्योरेंस आपकी गाड़ी के हिसाब से होता है यह निर्भर करता है की आपकी गाड़ी कोनसे मॉडल की है और किस कम्पनी की है इसमें आपका फ्यूल देखा जाता है फिर आप अपनी कार इंश्योरेंस कर सकते हैं। यह अलग अलग प्रकार के कार इंश्योरेंस होते हैं जो आपको सुनिश्चित करना होता है इसके लिए आपको पॉलिसी बाजार का कार इंश्योरेंस कैलकुलेटर इस्तेमाल करना चाहिए जिससे आपको आसानी हो देखने में की आपका कार इंश्योरेंस कितने का है।

यह भी पढ़ें:-

  1. सिलाई सीखने का आसान तरीका जान लीजिये, आप भी कर सकते हैं घर में यह काम
  2. गूगल एडसेंस क्या है और richads गूगल एडसेंस का बेहतर अल्टरनेटिव कैसे हो सकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *