जच्चा के लिए पंजीरी बनाने की विधि ऐसे बनायें बेसन की पंजीरी बनाने का तरीका

आज हम यहाँ आपको जच्चा के लिए पंजीरी बनाने की विधि को बता रहें हैं साथ ही आप जानेंगे की बेसन की पंजीरी बनाने का तरीका केसा है इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप पंजीरी बनाना सीख जायेंगे आपको  पंजीरी बनाने के लिए आपको 150 ग्राम शुद्ध घी, 50 ग्राम सफेद तिल, 50 ग्राम कद्दू के बीज, 50 ग्राम हलीम के बीज, 50 ग्राम अलसी के बीज, 50 ग्राम सूरजमुखी के बीज, 200 ग्राम काजू, 200 ग्राम की आवश्यकता होगी। 1 ग्राम बादाम, 200 ग्राम पेकान, 200 ग्राम मखाने, 50 ग्राम गोंद, 20 ग्राम किशमिश, 50 ग्राम पिस्ता, 1 कप रवा, 100 ग्राम पिसा हुआ नारियल, 350 ग्राम गुड़ का चूर्ण चाहिए। उसके बाद जच्चा के लिए पंजीरी बनाने आपको
  1. एक बर्तन में सफेद तिल, कद्दू के बीज, हलीम के बीज, अलसी के बीज, सूरजमुखी के बीज को धीमी आंच पर भून लें।
  2. जब बीज फूट जाएं तो इन्हें किसी दूसरे बर्तन में ठंडा होने के लिए रख दें।
  3. एक बर्तन में चार चम्मच घी लीजिए. गरम घी में धीरे-धीरे गोंद डालें।
  4. भूनने के बाद गोंद को दूसरे बर्तन में रख लीजिए.
  5. साथ ही, काजू, बादाम, पेकान और मखाना को अलग-अलग ब्राउन होने तक भून लीजिए. सभी बीजों को एक बर्तन में रख लीजिए. खाना पकाने के लिए एक अलग बर्तन का प्रयोग करें।
  6. घी में किशमिश, पिस्ते और नारियल भी डालकर भून लीजिए. एक प्याले में किशमिश और पिस्ता डाल दीजिए. पके हुए नारियल को एक अलग बर्तन में रख लें।
  7. फिर से एक बर्तन में 3 से 4 चम्मच घी डालें। जब यह गर्म हो जाए तो रवा को ब्राउन होने तक भून लें। भुने हुए रवा को एक अलग बर्तन में रख लें।

बेसन की पंजीरी बनाने का तरीका

सर्दी के मौसम में बेसन की पंजीरी बनाने का तरीका बहुत ही तीखी और ओट रेसिपी है, सेहत के साथ-साथ स्वाद में भी बेमिसाल होती है, बच्चे हो या बड़े सभी को पसंद आती है, इसे पहले भाग में गर्म दूध के साथ लेते हैं। दिन के समय या शाम के समय के आसपास आपको सर्दी-जुकाम नहीं होगा।

  • 1/2 किलो बेसन मोटा या ठेठ जैसा आप चाहें
  • 1/2 किलो खोया (मावा)
  • 400 ग्राम देसी घी
  • 1/2 किलो पिसी चीनी
  • 100 ग्राम बादाम, काजू, सिंथेटिक्स
  • 50 ग्राम गोंद
  • 1 चम्मच पिसी हुई इलायची

सबसे जरूरी है कि बेसन को छान लें, खराब चीनी को भी एक बार छान लें ताकि उसके सारे टुकड़े आपस में मिल जाएं, गोंद को घी में भूनकर मिक्सी में कूट लें, सूखे मेवे काट लें या खोया को मिक्सी में दरदरा पीस कर तैयार कर लें अब स्टिकर को कड़ाही में डालें और बेसन को सुनहरा भूरा होने तक भूनें, कोई कच्चा पन्ना नहीं बचा है। जब बेसन भून कर तैयार हो जाये तब उसमें सूखे मेवे, पकी हुई पिसी हुई डंडी और खोया डाल कर धीमी आग पर रख दीजिये, खोया और दावा को लगातार चलाते रहने से यह फूलने लगता है और बाहर आने लगता है. कि खोया उबल रहा है, तो लगातार चलाते हुए मिलाइये और गैस भी. धीमा रखना जब खोया और बेसन का मुंह बंद हो जाए तब गैस बंद कर दें और चीनी भी इसमें अच्छी तरह से मिल गई है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Share social media

मेरे सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, में काफी वर्षों से पत्रकारिता में कार्य कर रहा हूं और मैंने अपनी पढ़ाई भी मास्टर जर्नलिश्म से पुरी किया है। मुझे लिखना और नए तथ्यों को खोज करना पसन्द है। मुझे नई जानकारी के लिए न्यूज पेपर की अवश्यकता नहीं पड़ती में खुद इनफॉर्मेशन हासिल करने में रुचि रखता हूं। साथ ही वेबसाईट बनाना, seo, जैसी स्किल में महारथ हासिल है।

error: Content is protected !!