जानें पेंड्रम क्रीम लगाने से चेहरे पर क्या होता है

पेंड्रम क्रीम लगाने से क्या होता है  : आजकल कई युवा खूबसूरत दिखने के लिए बाजार में मिलने वाली क्रीम का इस्तेमाल करते हैं और गोरा करने के नाम पर बाजार में कई क्रीम मौजूद हैं उनमें से एक है पेंड्रम क्रीम जो कि खुजली रोधी क्रीम है लेकिन कई युवा इसे लगाने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं।

पेंड्रम क्रीम लगाने से चेहरे की स्किन को नमी प्राप्त होती है और वह नर्म और मुलायम होती है। पेंड्रम क्रीम आमतौर पर मोइस्चराइजर और हाइड्रेटर के रूप में उपयोग होती है जो त्वचा को आपूर्ति करती हैं और उसे उचित मात्रा में मोइस्चर देती हैं। इससे त्वचा में आराम और सुविधा का अनुभव होता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पेंड्रम क्रीम आमतौर पर सूखी और तैलीय त्वचा के लिए उपयोगी होती है, क्योंकि यह त्वचा को आपूर्ति और नमी प्रदान करने में मदद करती है। यह त्वचा की आपूर्ति को बनाए रखने में मदद करती है, जिससे चेहरे पर नर्मी बनी रहती है।

पेंड्रम क्रीम कई प्रकार की होती है, और हर क्रीम के अलग-अलग फायदे हो सकते हैं। कुछ क्रीम में एंटी-एजिंग या टाइटनिंग गुण हो सकते हैं, जो उम्र के लक्षणों को कम करने और त्वचा को सुडौल बनाने में मदद करते हैं।

पेंड्रम क्रीम क्या है ?

पेंडर्म क्रीम मैकलोड्स फार्मास्युटिकल्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा बनाया गया है, जिसका उपयोग आमतौर पर खुजली, लालिमा, सूखापन, सूजन, ओटिटिस एक्सटर्ना, योनि संक्रमण के निदान या उपचार के लिए उपयोग किया जाता है। इस क्रीम को तैयार करने के लिए क्लोबेटासोल टोपिकल (0.05%), ओफ़्लॉक्सासिन टोपिकल (0.75%), ऑर्निडाज़ोल टोपिकल (2%), टेरबिनाफ़ाइन टोपिकल (1%) का उपयोग किया जाता हैं।

यह क्रीम बैक्टीरिया और फंगस जैसे सूक्ष्मजीवों के कारण होने वाले स्किन इन्फेक्शन के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं का एक संयोजन है। यह क्रीम सूक्ष्मजीवों की वृद्धि को मारकर और रोककर इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करता है और लालिमा, सूजन और खुजली को भी कम करता है।

पेंड्रम क्रीम लगाने से चेहरे पर क्या होता है

कई सारे लोग इसका उपयोग अपने चेहरे को गोरा करने के लिए करते हैं लेकिन आपको ऐसा बिलकुल नही करना चाहिए, आपको कई तरह की समस्या हो सकती है जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

स्किन का पतला होना: अगर आप अपने चेहरे पर लगातार पेंड्रम क्रीम का उपयोग करते हैं तो आपके चेहरे की स्किन पतली हो सकती जिसकी वजह से लालिमा, जलन जैसे समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

पिम्पल होना: इस क्रीम का यूज़ चेहरे पर करने से मुहासे हो सकते हैं, जिसकी वजह से आपके चेहरे को भारी नुक्सान हो सकता है।

झाईयां पड़ जाना : इस क्रीम को लगातार लगाने से आपके चेहरे में जल्द ही झाईयां देखने की मिल सकते हैं।

स्किन लाल हो जाना: पेंड्रम क्रीम लगाने से आपकी स्किन पतली हो जाती है जिसकी वजह से धुप में स्किन लाल हो जाती है साथ ही स्किन में जलन हो सकती है।

बालों की अधिक वृद्धि: इस क्रीम का उपयोग चेहरे पर करने से आपके चेहरे के बालों की अधिक वृद्धि हो सकती हैं।

पेंड्रम क्रीम खुजली, स्किन इन्फेक्शन इत्यादि के लिए उपयोग में लाया जाता है, इसलिए इसे अपने चेहरे को गोरा करने के लिए उपयोग न करें वरना आपके चेहरे की स्किन ख़राब हो सकती है।

पेंड्रम क्रीम के फायदे और नुकसान

पेंड्रम क्रीम के उपयोग से फायदे हो सकते हैं पेंड्रम क्रीम त्वचा को आपूर्ति प्रदान करती है और नमी को बनाए रखने में मदद करती है। यह त्वचा को उचित मात्रा में मोइस्चर देती है और उसे पूर्णतः नमीयुक्त बनाए रखती है। त्वचा को आरामदायकता प्रदान करती है। यह त्वचा को शीतल और सुखदायक संघटकों से पूर्ण होती है और छिड़काव और खुजली को कम करने में मदद करती है। त्वचा को नर्म और मुलायम बनाए रखने में मदद कर सकती है। यह त्वचा के अंदरीय तत्वों को आपूर्ति प्रदान करती है और त्वचा की सुदृढ़ता को बढ़ाती है। पेंड्रम क्रीम में त्वचा के रंग को समायोजित करने के लिए विशेष तत्व हो सकते हैं। ये क्रीम दाग धब्बों, हाल्के दागों और त्वचा के नियमित रंग को बनाए रखने में मदद

पेंड्रम क्रीम के नुकसान

पेंड्रम क्रीम का उपयोग आमतौर पर सुरक्षित होता है, लेकिन कुछ लोगों को इसके प्रति संवेदनशीलता हो सकती है और वे इसे उपयोग करने से पहले डर्माटोलॉजिस्ट से सलाह लेने की सलाह देते हैं। यदि आप किसी पेंड्रम क्रीम के साथ निम्नलिखित संकेतों का सामना करते हैं, तो आपको इसका इस्तेमाल बंद करना चाहिए और चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए:

  1. त्वचा में जलन, खुजली, लालिमा, सूखापन, या त्वचा की उबादारता का अनुभव होना।
  2. त्वचा पर छाले, फोड़े, या त्वचा में विषाक्तता या सूजन की समस्या होना।
  3. त्वचा में खुदरा रेशे, अनुचित उत्पादन, या त्वचा के अन्य तत्वों के साथ तकलीफ होना।
  4. ज्यादा संवेदनशीलता वाली त्वचा होना, जैसे कि एक्जिमा या दूसरी त्वचा विकार।
  5. यदि आपको किसी भी तरह की एलर्जी या त्वचा प्रतिक्रिया का अनुभव होता है, तो आपको तुरंत अपने चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए।

पेंड्रम क्रीम कब लगाना चाहिए?

पेंड्रम क्रीम को आप निम्न स्थितियों में लगा सकते हैं:

  • त्वचा के सुखावट और रुखापन: यदि आपकी त्वचा तैलीय या सूखी है, तो आप पेंड्रम क्रीम को दैनिक रूप से उपयोग कर सकते हैं। इससे आपकी त्वचा को आराम मिलेगा और यह नमीयुक्त बनी रहेगी।
  • त्वचा की नमी को बनाए रखने के लिए: अगर आप नर्म और मुलायम त्वचा चाहते हैं, तो आप पेंड्रम क्रीम का उपयोग कर सकते हैं। इसका नियमित इस्तेमाल त्वचा को नर्म और सुंदर बनाए रखेगा।
  • त्वचा के लक्षणों को कम करने के लिए: कुछ पेंड्रम क्रीम में एंटी-एजिंग या टाइटनिंग गुण हो सकते हैं जो उम्र के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं। ऐसे क्रीम को रात को सोने से पहले लगाना चाहिए, ताकि यह पूरी रात त्वचा पर काम कर सके।
  • सूर्य टैनिंग के बाद: सूर्य के उज्ज्वलता के बाद त्वचा धूप के कारण कई तरह की समस्याओं से प्रभावित हो सकती है।

पेंड्रम क्रीम को कैसे यूज़ करते हैं?

पेंडरम क्रीम केवल बाहरी अंगों के लिए है और इसका उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें इनके द्वारा दी गई सलाह के अनुसार इस्तेमाल किया जाना चाहिए. दवा की पतली परत को साफ और सूखे हाथों से त्वचा के केवल प्रभावित क्षेत्रों पर लगाया जाना चाहिए. अगर यह आपकी आंख, नाक, मुंह या योनि में चला जाता है तो पानी से धो लें.

Share social media

मेरे सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, में काफी वर्षों से पत्रकारिता में कार्य कर रहा हूं और मैंने अपनी पढ़ाई भी मास्टर जर्नलिश्म से पुरी किया है। मुझे लिखना और नए तथ्यों को खोज करना पसन्द है। मुझे नई जानकारी के लिए न्यूज पेपर की अवश्यकता नहीं पड़ती में खुद इनफॉर्मेशन हासिल करने में रुचि रखता हूं। साथ ही वेबसाईट बनाना, seo, जैसी स्किल में महारथ हासिल है।

error: Content is protected !!