प्राइवेट पार्ट का कालापन कैसे दूर करें , जांघों के अंदर का कालापन दूर करने के आसान घरेलू उपाय

प्राइवेट पार्ट का कालापन कैसे दूर करें : हम में से कई लोगों को प्राइवेट पार्ट में काली, धब्बेदार त्वचा मिलती है। पुरुषों और महिलाओं में प्राइवेट पार्ट का कालापन या अंदरूनी हिस्से का काला होना आम बात है। एक विशेष क्षेत्र में त्वचा के काला पड़ना मेलेनिन नामक त्वचा वर्णक के उत्पादन में वृद्धि के परिणामस्वरूप होता है। इन डार्क पैच को हाइपरपिग्मेंटेशन कहा जाता है। या फिर प्राइवेट पार्ट जेसे हिस्से में त्वचा की मोटाई बढ़ने से भी त्वचा का रंग काला पड़ जाता है। लेकीन यहां हम आपको प्राइवेट पार्ट का कालापन कैसे दूर करें जैसे अकसर पूछा जाने वाला प्रश्न का देंगे यह आपके लिए महत्त्वपूर्ण योगदान दे सकता है।

प्राइवेट पार्ट के काले होने के कारण

प्राइवेट पार्ट का कालापन कुछ चिकित्सीय स्थितियों का परिणाम हो सकता है। हमारी जीवनशैली भी भीतरी जांघों में हाइपरपिग्मेंटेशन में योगदान करती है। भीतरी जांघों में काले धब्बे के कुछ सामान्य कारण हैं:

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
  1. चलने या काम करने के दौरान प्राइवेट पार्ट के रगड़ने के कारण होने वाली झनझनाहट या घर्षण
  2. दवाओं के दुष्प्रभाव
  3. सूखी और परतदार त्वचा
  4. सूर्य की यूवी किरणों के अत्यधिक संपर्क में आना
  5. बालों को हटाने वाले उत्पादों या वैक्सिंग का उपयोग

हार्मोनल असंतुलन, विशेष रूप से महिलाओं के लिए, गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान चिकित्सीय स्थितियां जिनमें मधुमेह और त्वचा रंजकता विकार शामिल हैं जैसे एसेंथोसिस नाइग्रिकन्स

जांघों के अंदर का कालापन दूर करने के घरेलू उपाय

डार्क इनर थाई हममें से कई लोगों के लिए चिंता का कारण हो सकता है। जबकि उचित निदान और उपचार के लिए त्वचा विशेषज्ञ से इसकी जांच करवाना सबसे अच्छा है, काली जांघों के लिए कुछ प्राकृतिक घरेलू उपचार बहुत मददगार हो सकते हैं।

1. एलोवेरा जेल

एलोवेरा में एलोइन और एलोसिन नामक रसायन होते हैं जो हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करते हैं और त्वचा को हल्का करते हैं। इसमें विटामिन ए, सी और ई होता है। इसके सूजन-रोधी गुण झुलसी हुई त्वचा पर आराम पहुंचा सकते हैं। यह व्यथा को कम कर सकता है और त्वचा के दाग-धब्बों को सीमित कर सकता है। मुसब्बर वेरा जेल भी त्वचा पर विकिरण के प्रभाव को कम कर सकता है। इसके अलावा, यह एक अद्भुत मॉइस्चराइजिंग एजेंट है जो त्वचा को कोमल रखता है और रूखेपन को नियंत्रित करता है।

एलोवेरा जेल को प्रभावित क्षेत्र पर उदारता से लगाएं और त्वचा को इसे सोखने दें। आप इसे त्वचा पर ऐसे ही छोड़ सकते हैं और इसे धोने की आवश्यकता नहीं है।

2. नींबू का रस और दही

नींबू में विटामिन सी हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करने में मदद कर सकता है।

नींबू का साइट्रिक एसिड ब्लीचिंग एजेंट के रूप में कार्य करता है जो त्वचा को हल्का करने में मदद कर सकता है। दही या दही में लैक्टिक एसिड और विटामिन बी 12 होता है, जो त्वचा के मलिनकिरण को कम करने के लिए माना जाता है। यह एक एक्सफोलिएटर के रूप में भी काम कर सकता है जो त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करेगा, जिससे यह नरम और कोमल हो जाएगी।

थोड़े से ताजे दही या योगर्ट के साथ एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं। इस मिश्रण को प्रभावित जगह पर लगाएं और लगभग 10 मिनट तक धीरे-धीरे मालिश करें। इसे साफ करके थपथपाकर सुखा लें।

यदि आपके पास संवेदनशील या एलर्जी-प्रवण त्वचा है, तो इन अवयवों की अम्लता त्वचा को परेशान कर सकती है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपकी त्वचा किसी भी सामग्री पर प्रतिक्रिया नहीं करती है, अपनी त्वचा पर मिश्रण का पैच परीक्षण करना याद रखें।

3. बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा में एक एक्सफ़ोलीएटिंग गुण होता है जो मृत त्वचा को हटाने में मदद कर सकता है। यह छिद्रों को बंद कर सकता है और आपकी त्वचा को बैक्टीरिया के संक्रमण से मुक्त रख सकता है। बेकिंग सोडा के ब्लीचिंग गुण हाइपरपिगमेंटेशन में भी कारगर माने जाते हैं।

बेकिंग सोडा और पानी को बराबर मात्रा में लेकर इसका पेस्ट बना लें। पेस्ट को प्रभावित भीतरी जांघों पर समान रूप से फैलाएं। इसे 15 मिनट तक रहने दें और बाद में इसे अच्छी तरह से धो लें।

हालांकि यह एक प्रभावी डार्क इनर थाई उपाय माना जाता है, लेकिन सावधानी के साथ इस उपाय का उपयोग करें। अपने उच्च पीएच स्तर के कारण, बेकिंग सोडा दैनिक उपयोग के लिए नहीं है। इसके अलावा, अगर आपको लगता है कि यह आपकी त्वचा को परेशान करता है, तो इसका उपयोग तुरंत बंद कर दें।

4. आलू का रस और शहद

आलू के अर्क को एक बेहतरीन ब्राइटनिंग एजेंट माना जाता है। इसमें कैटेकोलेज़ होता है, एक एंजाइम जो त्वचा को एकसमान बनाने में मदद कर सकता है।

शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। यह एक उत्कृष्ट मॉइस्चराइजिंग एजेंट है, और इसकी विरोधी भड़काऊ संपत्ति सूखी, परेशान त्वचा को शांत करने में मदद कर सकती है।

आलू का रस और शहद बराबर मात्रा में लेकर इन्हें मिला लें। प्रभावित आंतरिक जांघ क्षेत्र पर मिश्रण को लगाएं। 10 मिनट बाद इसे धो लें। इस उपाय को हफ्ते में दो या तीन बार दोहराने से फर्क दिखने लगेगा।

5. जंगली हल्दी

जंगली हल्दी को हाइपरपिगमेंटेशन को नियंत्रित करने में काफी कारगर माना जाता है। इसमें एक विरोधी भड़काऊ घटक, करक्यूमिनोइड्स होता है, जो त्वचा को ठीक करने में मदद कर सकता है। इसे रोजाना लगाने से अच्छे परिणाम मिलते हैं। हल्दी डार्क पैच का इलाज करने और त्वचा की रंगत को समान बनाने में भी मदद कर सकती है।

आप अपने प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करने के लिए आपको एक बड़ा चम्मच जंगली हल्दी पाउडर लें और उसमें थोड़ा पानी या दही मिलाकर पेस्ट बना लें। जांघों या प्राइवेट पार्ट पर या काले क्षेत्रों पर पेस्ट फैलाएं 10-15 मिनट बाद इसे ठंडे पानी से धो लें इससे आपका प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करें और यदि आप भी कोहनी और घुटनों के कालेपन से छुटकारा पाना चाहते हैं। फिर कोहनी और घुटनों के कालेपन से छुटकारा पाने के लिए यह घरेलू उपाय आजमाएं।

प्राइवेट पार्ट का कालापन कैसे दूर करें

प्राइवेट पार्ट (जिन्में वैज्ञानिक भाषा में “वुल्वा” या “वैजाइना” कहा जाता है) का रंग व्यक्ति के शारीरिक स्वास्थ्य और जीवनशैली से संबंधित हो सकता है। इसका कालापन कई कारकों के परिणामस्वरूप हो सकता है, जैसे कि अधिक सूर्य किरणों के संरचना पर प्रभाव, हॉर्मोनल परिवर्तन, यौन संबंधों की शुद्धता, और अन्य आंतरिक और बाहरी कारणों के कारण।

यदि आपको लगता है कि आपके प्राइवेट पार्ट का कालापन असामान्य है और आप इसे सुधारना चाहते हैं, तो निम्नलिखित उपायों का पालन कर सकते हैं:

  1. स्वस्थ खानपान: आपकी त्वचा की स्वास्थ्यवर्धन के लिए सही प्रकार का आहार आवश्यक है। फल, सब्जियां, पूरी अनाज, अच्छे प्रकार के प्रोटीन (मछली, मीट, दाल), और पर्याप्त पानी पीना आपके त्वचा की स्वास्थ्यवर्धन में मदद कर सकता है।
  2. स्वच्छता: अच्छी स्वच्छता बनाए रखना भी महत्वपूर्ण है। नियमित रूप से नहाना और साबुन का उपयोग करना सुन्दरता बनाए रखने में मदद कर सकता है।
  3. संरचित यौन संबंध: अनियमित यौन संबंध और अनवांटेड यौन संबंध से बचें। यौन संबंधों की शुद्धता बनाए रखने के लिए सुरक्षित यौन आदर्श अपनाएं।
  4. हार्मोनल स्थिति का ध्यान रखें: कई बार हार्मोनल बदलाव भी प्राइवेट पार्ट के रंग में परिवर्तन का कारण बन सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आपके शरीर में किसी तरह की हार्मोनल समस्या हो सकती है, तो एक चिकित्सक से परामर्श करना सही हो सकता है।
  5. आपने देखभाल: आपकी त्वचा की देखभाल के लिए उपयुक्त मौसमी त्वचा की देखभाल उत्पादों का उपयोग करें।
  6. नियमित योग और व्यायाम: स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखने के लिए नियमित योग और व्यायाम करना महत्वपूर्ण है।

 निष्कर्ष

प्राइवेट पार्ट का कालापन कोई बीमारी नहीं है। यह एक सामान्य त्वचा की स्थिति है। भीतरी जांघों के कालेपन के लिए ये घरेलू उपचार आपको इस समस्या को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने में मदद कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, क्षेत्र को मॉइस्चराइज़ रखें और त्वचा पर हानिकारक रसायनों का उपयोग करने से बचें जो इसे खराब कर सकते हैं। इन उपायों के बावजूद, यदि आपकी समस्या बनी रहती है, तो स्थिति के कारण को दूर करने के लिए त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श लें।

Share social media

मेरे सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, में काफी वर्षों से पत्रकारिता में कार्य कर रहा हूं और मैंने अपनी पढ़ाई भी मास्टर जर्नलिश्म से पुरी किया है। मुझे लिखना और नए तथ्यों को खोज करना पसन्द है। मुझे नई जानकारी के लिए न्यूज पेपर की अवश्यकता नहीं पड़ती में खुद इनफॉर्मेशन हासिल करने में रुचि रखता हूं। साथ ही वेबसाईट बनाना, seo, जैसी स्किल में महारथ हासिल है।

error: Content is protected !!