जानें बादाम का तेल नाभि में लगाने के फायदे क्या क्या है

दरअसल आर्युवेद में बादाम का तेल उपयोग किया जाता है जिसे नाभि में लगाने पर एक बेहतरीन इलाज किया जाता है जिसे लगाने के फायदे अनेक होते हैं बादाम का तेल नाभि में लगाने के फायदे आपको चौंका सकते हैं लेकिन आपको पता होना चाहिए कि क्या फायदे होते हैं। तो चलिए जानते हैं।

बादाम का तेल नाभि में लगाने के फायदे

यह बादाम का तेल (Almond oil) नाभि में लगाने के कुछ आपूर्तिक और स्वास्थ्य सम्बन्धी फायदे हो सकते हैं। यह तेल स्वास्थ्य के लिए उपयोगी नुत्रिएंट्स से भरपूर होता है, जैसे कि विटामिन ई, ऑमेगा-3 और ऑमेगा-6 फैटी एसिड्स, फाइटोस्टेरोल, और एंटीऑक्सीडेंट्स। यहां कुछ मुख्य फायदे हैं:

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

1. त्वचा के लिए

आपके लिए बादाम का तेल त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाने में मदद कर सकता है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है, ड्राईनेस को कम करता है, और त्वचा के धुले हुए रंग को सुधारता है।

2. मालिश के लिए

नाभि में बादाम के तेल को लगाने से मालिश करने में आसानी होती है। यह शरीर के मांसपेशियों को शांत करने, तनाव को कम करने और संयमित श्वसन को प्रोत्साहित करने में मदद कर सकता है।

3. पेट के लिए

बादाम का तेल नाभि में लगाने से पाचन प्रणाली को सुधारता है। यह अपच, गैस, और कब्ज़ की समस्याओं को कम कर सकता है।

4. नींद के लिए

इसे रात को सोने से पहले नाभि में लगाने से आरामदायक नींद मिल सकती है।

बादाम का तेल नाभि में कैसे लगाएं

बादाम का तेल नाभि में लगाने के लिए निम्नलिखित तरीके का पालन करें:

1. स्नान के बाद

शावर या स्नान के बाद, थोड़ा गर्म बादाम का तेल अपनी नाभि पर लगाएं। इसे हल्का मसाज करें ताकि तेल अच्छी तरह से आपकी त्वचा में संवेदनशील हो सके।

2. सोने से पहले

रात को सोने से पहले, एक चम्मच बादाम का तेल गर्म करें। धीरे-धीरे और आराम से इसे अपनी नाभि में मसाज करें। मसाज करने के बाद, आप उसे पूरी रात या सुबह तक रहने दे सकते हैं।

3. नाभि पर धूल द्वारा

अगर आप इसका अधिक प्रभाव पाना चाहते हैं, तो नाभि को साफ करने के लिए थोड़ा गर्म पानी और धूल का उपयोग करें। उसके बाद, थोड़ा सा बादाम का तेल गर्म करें और नाभि पर इसे मसाज करें। इसे रात को सोने से पहले कर सकते हैं ताकि तेल पूरी रात रह सके।

नाभि में बादाम का तेल लगाने के बाद, आपको ध्यान देने की जरूरत है कि इसे आपकी त्वचा के साथ अच्छी तरह से मिलाएं ताकि वह सुख सके। इसे सभी व्यक्ति की त्वचा पर प्रतिक्रिया अलग हो सकती है, इसलिए यदि आपको किसी प्रकार की त्वचा प्रॉब्लम होती है, तो पहले तेल को छोटे भाग पर परीक्षण करें और उसके बाद ही पूरी त्वचा पर इसका उपयोग करें।

बादाम का तेल नाभि में लगाने के नुकसान

आमतौर पर, बादाम का तेल नाभि में लगाने के नुकसान नहीं होते हैं। हालांकि, कुछ लोगों को त्वचा पर अलर्जी या त्वचा संक्रमण के उत्पन्न होने की संभावना हो सकती है। इसलिए, यदि आप बादाम के तेल का उपयोग करने से पहले इसके संबंध में अनुभवित त्वचा रेशेदारी या किसी अन्य संक्रमण के लक्षणों का सामना कर रहे हैं, तो आपको तत्पर रहना चाहिए और इसे उपयोग करना बंद करना चाहिए।

बादाम का तेल ठंडा होता है या गरम

दरसबादाम का तेल गर्म होता है। यह तेल बादाम के बीजों से निकाला जाता है और इसका उपयोग भोजन में और त्वचा और बाल की देखभाल में किया जाता है। बादाम का तेल मसाले और स्वादिष्ट तेलों की एक प्रकार है और उसकी उच्च तापमान संबंधित गुणों के कारण इसे गर्म माना जाता है।

यह भी पढ़ें: रात में काजू खाने के फायदे और काजू बादाम किशमिश एक साथ खाने के फायदे

बादाम के तेल को अक्सर गर्म किया जाता है ताकि इसके गुण सबसे अच्छी तरह से निकलें और इसका उपयोग किया जा सके। आप इसे अपनी पसंद के अनुसार गर्म या ठंडा कर सकते हैं, लेकिन आमतौर पर इसे गर्म करके इसका उपयोग किया जाता है। गर्म बादाम का तेल आसानी से त्वचा में आपकी त्वचा की नींद तथा त्वचा की सुरक्षा बढ़ाने के लिए प्रयुक्त किया जा सकता है।

Share social media

मेरे सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, में काफी वर्षों से पत्रकारिता में कार्य कर रहा हूं और मैंने अपनी पढ़ाई भी मास्टर जर्नलिश्म से पुरी किया है। मुझे लिखना और नए तथ्यों को खोज करना पसन्द है। मुझे नई जानकारी के लिए न्यूज पेपर की अवश्यकता नहीं पड़ती में खुद इनफॉर्मेशन हासिल करने में रुचि रखता हूं। साथ ही वेबसाईट बनाना, seo, जैसी स्किल में महारथ हासिल है।

error: Content is protected !!