Digital marketing kya hota hai : डिजिटल मार्केटिंग से कमाएं पैसा बिजनेस और जॉब्स से जानें इसके फायदे

digital marketing kya hota hai : वर्तमान समय में भारत डिजिटाइज हो रहा है और आज हम आपको ( online digital marketing kya hota hai ) के बारे में बता रहे हैं डिजिटल मार्केटिंग अब हर बिजनेस के उतना ही इंपोर्टेंट है जितना की आपका बिजनेस किसी भी व्यवसाय को तेजी से ग्रो करने के लिए यह डिजीटल मार्केटिंग महत्वपूर्ण है।

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) एक प्रकार का मार्केटिंग प्रक्रिया है जिसमें डिजिटल माध्यमों और प्लेटफॉर्म का उपयोग करके उत्पादों और सेवाओं का प्रचार किया जाता है। इसमें इंटरनेट, मोबाइल उपकरण, सोशल मीडिया, सर्च इंजन्स, और अन्य डिजिटल माध्यमों का उपयोग किया जाता है।डिजिटल मार्केटिंग ट्रेडिशनल मार्केटिंग से अलग है, क्योंकि इसमें लक्षित दर्शकों तक सीधे पहुंचने के लिए डिजिटल माध्यमों का उपयोग किया जाता है। डिजिटल मार्केटिंग के कुछ प्रमुख तरीके हैं:

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

1. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization – SEO)

SEO की मदद से वेबसाइट को सर्च इंजन रैंकिंग में सुधारा जाता है, जिससे आर्गेनिक ट्रैफिक में वृद्धि होती है।

2. सर्च इंजन मार्केटिंग (Search Engine Marketing – SEM)

SEM में पेड विज्ञापन का उपयोग किया जाता है, जिसमें जैसे Google द्वारा विज्ञापन दिखाए जाते हैं। विज्ञापनदाताओं को प्रति क्लिक भुगतान करना पड़ता है।

3. सोशल मीडिया मार्केटिंग (Social Media Marketing)

Facebook, Instagram, Twitter, LinkedIn जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करके उत्पादों और सेवाओं का प्रचार किया जाता है। इसमें आर्गेनिक और पेड दोनों का उपयोग होता है।

4. कंटेंट मार्केटिंग (Content Marketing)

इसमें मान्यतापूर्ण और मूल्यवान सामग्री जैसे ब्लॉग, आलेख, वीडियो, इन्फोग्राफिक्स, ईबुक्स, और पॉडकास्ट्स बनाए जाते हैं। यह सामग्री दर्शकों को आकर्षित करती है और ब्रांड की विश्वसनीयता और प्रतिष्ठा को बढ़ाती है।

5. ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing)

ईमेल मार्केटिंग में ईमेल प्रचार अभियानों का उपयोग किया जाता है, जिसमें मौजूदा और संभावित ग्राहकों को लक्षित ईमेल भेजे जाते हैं। इसमें न्यूजलेटर, ऑफ़र, प्रमोशन, और व्यक्तिगत संदेश शामिल होते हैं।

6. अफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing)

अफिलिएट मार्केटिंग में एक कंपनी अपने उत्पादों या सेवाओं के प्रचार के लिए एफिलिएट्स (साझेदार) को कमीशन देती है। अफिलिएट्स अपनी वेबसाइट, ब्लॉग, और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से उत्पादों का प्रचार करते हैं।

7. मोबाइल मार्केटिंग (Mobile Marketing)

मोबाइल उपकरण जैसे स्मार्टफोन और टैबलेट का उपयोग करके मार्केटिंग की जाती है। इसमें मोबाइल ऐप्स, एसएमएस मार्केटिंग, और मोबाइल-ऑप्टिमाइज़्ड वेबसाइट्स का उपयोग होता है।डिजिटल मार्केटिंग के उपयोग से व्यापारियों को अपने लक्षित दर्शकों तक अधिक प्रभावी ढंग से पहुंचा जा सकता है, उनकी ब्रांड जागरूकता और प्रतिष्ठा को बढ़ा सकता है, और ऑनलाइन बिक्री और परिणामों को सुधार सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग का काम क्या है ? ( digital marketing ka kaam kya hota hai )

डिजिटल मार्केटिंग के काम को विस्तार से निम्नलिखित तरीकों में वर्गीकृत किया जा सकता है:

1. ऑनलाइन प्रचार (Online Advertising)

डिजिटल मार्केटिंग का मुख्य काम उत्पादों और सेवाओं के लिए ऑनलाइन प्रचार करना होता है। यह संबंधित लक्षित दर्शकों को उत्पादों और सेवाओं के बारे में जागरूक करने और उन्हें उत्पादों को खरीदने के लिए प्रेरित करने के लिए किया जाता है। इसमें सर्च इंजन विज्ञापन (Search Engine Advertising), सोशल मीडिया विज्ञापन (Social Media Advertising), डिस्प्ले विज्ञापन (Display Advertising), और वीडियो विज्ञापन (Video Advertising) शामिल होते हैं।

2. सामग्री निर्माण (Content Creation)

डिजिटल मार्केटिंग में मानव बाधाओं को प्रभावी ढंग से संवारने के लिए सामग्री निर्माण का महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसमें ब्लॉग लेखन, आलेख लेखन, वीडियो बनाना, पॉडकास्ट निर्माण, सोशल मीडिया पोस्ट्स, ईबुक्स, इन्फोग्राफिक्स, और वेबसाइट कंटेंट शामिल हो सकते हैं। उच्च-गुणवत्ता की सामग्री दर्शकों को आकर्षित करती है, उनका ध्यान आकर्षित करती है और विश्वसनीयता का निर्माण करती है।

3. सोशल मीडिया प्रबंधन (Social Media Management)

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर उपस्थित होने और व्यवस्था करने का जिम्मा डिजिटल मार्केटर का होता है। यह सोशल मीडिया चैनल्स पर ब्रांड की विचारधारा को प्रदर्शित करने, लक्षित दर्शकों के साथ संवाद स्थापित करने, उत्पाद और सेवाओं की प्रचार प्रणाली को संचालित करने, और उपयोगकर्ताओं के साथ संवाद बनाए रखने का काम करता है।

4. खोज इंजन अनुकूलन (Search Engine Optimization – SEO)

SEO का मुख्य उद्देश्य वेबसाइट को खोज इंजन रैंकिंग में उच्चतम स्थान प्रदान करना होता है। यह वेबसाइट को खोज इंजन के निष्कर्ष तक पहुंचने में मदद करता है और आर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने का प्रयास करता है। यह तकनीकी अपडेट, कंटेंट अनुकूलन, कीवर्ड अनुकूलन, लिंक बिल्डिंग, और वेबसाइट की गुणवत्ता आदि के माध्यम से काम करता है।

5. वेब एनालिटिक्स (Web Analytics)

डिजिटल मार्केटर के लिए वेब एनालिटिक्स उपकरण बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। यह ट्रैफिक, प्रवेश पथ, उपयोगकर्ता अवधारणाओं, लक्षित दर्शकों के साथ संवाद की गुणवत्ता, और साइट के कन्वर्जन दर के मापन आदि के लिए उपयोग होता है। यह मार्केटिंग प्रयासों के प्रभाव को मापने, समझने, और सुधार करने में मदद करता है।ये हैं कुछ मुख्य कार्य क्षेत्र जिनमें डिजिटल मार्केटिंग कार्यरत रहता है। यह व्यापारियों को उत्पादों और सेवाओं के प्रचार, ब्रांड निर्माण, ग्राहक संबंध स्थापना, और ऑनलाइन विपणन के माध्यम से अधिकांश लाभ प्राप्त करने में मदद करता है।

Share social media

मेरे सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, में काफी वर्षों से पत्रकारिता में कार्य कर रहा हूं और मैंने अपनी पढ़ाई भी मास्टर जर्नलिश्म से पुरी किया है। मुझे लिखना और नए तथ्यों को खोज करना पसन्द है। मुझे नई जानकारी के लिए न्यूज पेपर की अवश्यकता नहीं पड़ती में खुद इनफॉर्मेशन हासिल करने में रुचि रखता हूं। साथ ही वेबसाईट बनाना, seo, जैसी स्किल में महारथ हासिल है।

error: Content is protected !!