भारी बारिश और भूस्खलन से हाहाकार, खतरे के निशान से ऊपर अलकनंदा-मंदाकनी नदियां

उत्तराखंड में भारी बारिश से आफत का दौर जारी है। कई जगहों से बहुत बड़े नुकसान की खबरें सामने आ रही है। यमकेश्वर  मोहन चट्टी में एक रिसार्ट मलबे से दब गया। एक परिवार के यहां दबने की आशंका है। चमोली जिले में भयंकर बारिश से हाहाकार मचा हुआ है नगर पंचायत पीपलकोटी कार्यालय में कार्यालय में ऊपर से नाला आने से कार्यालय की गाड़ियां मलबे में दबी व कार्यालय में पानी तथा मलबा भर गया है।

बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर छिनका के पास लगातार हो रही बारिश के कारण पहाड़ी से पत्थर गिर रहें है। नंदप्रयाग, बाजपुर,  गुलाबकोटी, बेलाकुची, पागलनाला, काली मंदिर टंगणी, हाथीपर्वत व विष्णुप्रयाग के पास मलबा आने के कारण सड़क मार्ग अवरुद्ध है। ऋषिकेश में एक कार में एक महिला और दो बच्चे बह गए जिनकी तलाश एसडीआरएफ पुलिस द्वारा की जा रही है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

हरिद्वार -ऋषिकेश में गंगा खतरे के निशान के करीब बह रही है, जिसे लेकर लेकर चेतावनी जारी की गई है। जानकारी के अनुसार, अलकन्दा और मंदाकनी नदियों के जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं अलकनंदा का जलस्तर 628.80 मी. मंदाकिनी का जलस्तर 627.80 दोनों खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। खतरे की जद में आ रहे परिवारों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है। वहीं देहरादून में सोंग नदी भी अधिकतम स्तर से ऊपर बह रही है।

मौसम विभाग के अनुसार आज देहरादून, पौड़ी, टिहरी, हरिद्वार, चम्पावत, नैनीताल और उधमसिंह नगर में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इसे लेकर रेड और आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी में कहीं-कहीं भारी वर्षा के आसार हैं। पिथौरागढ़, अल्मोड़ा और बागेश्वर  जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं।

Share social media

मेरे सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, में काफी वर्षों से पत्रकारिता में कार्य कर रहा हूं और मैंने अपनी पढ़ाई भी मास्टर जर्नलिश्म से पुरी किया है। मुझे लिखना और नए तथ्यों को खोज करना पसन्द है। मुझे नई जानकारी के लिए न्यूज पेपर की अवश्यकता नहीं पड़ती में खुद इनफॉर्मेशन हासिल करने में रुचि रखता हूं। साथ ही वेबसाईट बनाना, seo, जैसी स्किल में महारथ हासिल है।

error: Content is protected !!