कागज पर नाम लिखकर दुश्मन का खात्मा करना है तो ये तरीका है

कागज पर नाम लिखकर दुश्मन का खात्मा : आजकल के ज़माने में कोई तरक्की करता है तो कोई पीछे रह जाता हैं. अब ऐसे में पीछे रह जाने वाले इंसान से आगे बढ़ने वाले की तरक्की नही देखी जाती हैं. और वह उस इंसान के खिलाफ कुछ ना कुछ तांत्रिक विद्या या टोटके करके उसकी तरक्की में बाधा डालता हैं. कई बार हमारे दुश्मन इतने निर्दयी हो जाते है की उनको किसी पर भी दया नही आती. और कुछ ना कुछ करके हमारे काम बिगाड़ने में लगे रहते हैं. कुछ दुश्मन तो पति-पत्नी या प्रेमी-प्रेमिका के बिच के संबंध में भी बाधा डालते हैं.

कागज पर नाम लिखकर दुश्मन का खात्मा

दुश्मन का कोई भी जाती धर्म या लिंग नही होता हैं. दुश्मन सिर्फ दुश्मन होता है. उन्हें बस यही दिखता है की सामने वाले को कैसे करके नुकसान पहुंचाया जाए. अगर आप भी किसी दुश्मन से परेशान है. तो आप सही जगह पर आए हैं. आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ ऐसे टोटके बताएगे. जिससे दुश्मन का खात्मा होगा. तो आइये चले जानते है ऐसे ही कुछ टोटके जो आपकी परेशानी को दूर करेगे.

काल भैरव शाबर मंत्र से कागज पर नाम लिखकर दुश्मन का खात्मा

कागज पर नाम लिखकर दुश्मन का खात्मा : आपको शनिवार के दिन यह उपाय करना हैं. आपको सफ़ेद कागज का टुकड़ा लेना है उस पर चंदन से आपके दुश्मन का नाम लिखना हैं. अब इस कागज के टुकड़े को अपने देवता के चरणों में रखकर उन्हें घी का दीपक करना हैं. ऐसा आपको सात दिन तक लगातार करने हैं. आपका दुश्मन आपके वश में आ जाएगा और फिर कभी आपके काम में बाधा नहीं डालेगा.

दूसरा तरीका कागज पर नाम लिखकर दुश्मन का खात्मा

कागज पर नाम लिखकर दुश्मन का खात्मा : यह उपाय भी आपको शनिवार के दिन ही करना हैं. आपको एक सफ़ेद कागज के टुकड़े पर लाल पेन से अपने दुश्मन का नाम लिखना हैं. उसके बाद नीचे हमने एक मंत्र दिया है. उस मंत्र का तिन बार जाप करना हैं.

दुश्मन का खात्मा मंत्र

मंत्र जाप करने के बाद कागज को अपने मुट्ठी में बंध करके अपने दुश्मन का नाम लेकर याद करे. अब उस कागज के टुकड़े को चार घंटे तक अपने जेब में रखे. उसके बाद कागज को जला दे. आपका काम हो जाएगा.

दुश्मन का खात्मा करने के पारंपरिक टोटके

यह पारंपरिक टोटके है जो दुश्मन का खात्मा करने में कारगर है जो निम्नलिखित हैं: अगर आप किसी दुश्मन से परेशान है तो साबुत उड़द की दाल के 38 दाने और साबुत चावल के 40 दाने ले. अब इन दानो को मिलाकर मंदिर परिषद या घर की कोई साफ जगह पर तिन इंच गड्ढा करके नीचे दबा दे. अब उसके ऊपर नींबू निचोड़ दे. यह काम आधी रात को करना है. यह कार्य करते समय अपने दुश्मन का नाम लेते रहे. यह प्रयोग करने से प्रेम संबंध बिगाड़ने वाले दुश्मन का खात्मा होगा.

शनिवार के दिन सात लौंग लेकर अपने दुश्मन का नाम लेकर फूंक लौंग पर फुक मारे. अगले दिन रविवार को सभी लौंग को जला दे. यह टोटका आपको सात शनिवार करना हैं. इससे आपके दुश्मन का वशीकरण हो जाएगा. वह आपके काम बिगाड़ने की जगह आपकी तारीफ करने लगेगा.

यह टोटका पुराने समय से चला आ रहा है. एक फटा हुआ जूता ले उसके नीचे अपने दुश्मन का नाम लिख ले. अब आप के घर में किसी कोने में लटका दे. यह टोटका करने से दुश्मन आपका कुछ नही बिगाड़ पाएगा.

तांत्रिक साधना के द्वारा दुश्मन का खात्मा

दुश्मन का हमेशा के लिए खात्मा करने के लिए बाबा भैरव के समक्ष किया जाने वाला टोटका कुछ इस प्रकार हैं. सबसे पहले अमावस्या के दिन को दो इंच की चार किल लेकर आए. अब उसी रात को ठीक दस बजे दक्षिण दिशा की तरफ भैरव की तस्वीर लगाए. जिसका मुहं उत्तर दिशा की तरफ रहे. अब आसन बिछा कर बैठ जाए. और चार बत्ती वाला सरसों के तेल से दीपक जलाए.

अब चार कीलों को अलग अलग मौली में लपेटकर भैरव के सामने रखे. अब उनसे हाथ जोड़कर विधि संपन्न करने की प्रार्थना करे. तथा आपसे कुछ भी भूल हुई है उस के लिए क्षमा मांगे.

अब एक हवन कुंड तैयार करे. अब “हूं हूं फट स्वाहा” मंत्र का 108 बार जाप करे. प्रत्येक मंत्र के बाद काली सरसों से आहुति दे. यह विधि पूर्ण होने के बाद आसन पर से उठे.

विधि पूर्ण होने के बाद कीलों को मौली से निकालकर संभालकर रखे. अब अगले दिन दुश्मन के दरवाजे तथा दीवाल पर कीले ठोक दे. और हवन की सामग्री को नदी में प्रवाहित कर दे. अब घर आकर गंगा जल से अपने घर को शुद्ध करे. यह बाबा भैरव का टोटका है इस टोटके से आपका दुश्मन आपको कभी हानि नहीं पहुंचा पाएगा.

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. हम इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

Krish Bankhela

I am 23 years old, I have passed my master's degree and I do people, I like to join more people in my family and my grandmother, I am trying to learn new every day in Pau. And I also learn that I love to reach my knowledge to people

Previous Post Next Post