नाभि में सरसों का तेल लगाने के नुकसान और फायदे फिर देखिये चेहरे पे निखार

आज आप नाभि में सरसों का तेल लगाने के नुकसान और फायदे जानने वाले हैं नाभि का शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है नाभि हमारे पेट से जुड़ा होता है, अक्सर बजुर्ग कहते हैं की नाभि में सरसों का तेल लगाने से पेट मैं गर्मी और चेहरे पर निखार बढ़ाने का एक मात्र इलाज नाभि में सरसों का तेल लगाना है। और जाने की  जात्यादि तेल के फायदे शायद ही आप जानते हो ऐसे उपयोग करें और लाभ उठाएं। नाभि शरीर मैं हो रहे क्रियाकलापों से ज्यादा सम्बन्ध नहीं है लेकिन इसका स्वस्थ्य को लेकर महत्पूर्ण योगदान रहता है बुजुर्ग ऐसा कहते हैं कि नाभि में तेल लगाने से आंखों की रौशनी कमजोर नहीं होती. इसके लिए नाभि में नारियल का तेल लगाना चाहिए.

नाभि में तेल लगाने के नुकसान

अगर नाभि पर बादाम का तेल लगाया जाए तो इससे चेहरे पर रौनक आती है. कील-मुंहासे दूर होते हैं. शायद आपको जानकर हैरानी हो पर सच ये है कि नाभि पर सरसों का तेल लगाने से जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है. खासतौर पर घुटनों के दर्द में. और जाने की खसखस और मखाने के फायदे जानें मिलेंगे ढेरों फायदे ये कई बिमारियों की दवा है

अगर आपके बाल तेजी से झड़ रहे हैं तो नाभि पर सरसों का तेल डालें. राहत मिलेगी. अगर अपच रहता है, पेट खराब रहने की समस्या है तो नाभि में नाभि में सरसों का तेल डालें.

नाभि में सरसों का तेल लगाने के नुकसान और फायदे

नाभि में सरसों का तेल लगाने के नुकसान : नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से कील मुहासे और आपकी त्वचा सॉफ्ट रहती है रूखी त्वचा से आप निजात पा सकते हैं आयुर्वेद मैं भी इसका उपयोग किया जाता है पेट की गर्मी को दूर करने मैं भी यह अहम् भूमिका निभाता है। नाभि में सरसों के लगाने के फायदे अनेक जैसे –

  1. नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से दाग धब्बों और कील मुहांसों से दिलाता है निजात।
  2. त्वचा में निखार आता है नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से.
  3. नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से फटे होंठों से मिलता है निजात।
  4. जोड़ो में दर्द से आराम मिलता है नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से.
  5. नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से इन्फेक्शन से बचाव होता है।
  6. पेट दर्द के लिए-गैस, अपच, आदि के कारण कई बार पेट में दर्द की समस्या हो जाती है, ऐसे में यदि आप नाभि में तेल की दो बूंदे डाल देते हैं, तो मदद मिलती है.
  7. नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से प्रजनन क्षमता में सुधार करता है.
  8. नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से सूजन से राहत मिलती है.
  9. नाभि मैं सरसों का तेल लगाने से पीरियड्स के दर्द से राहत दिलाता है.
  10. नाभि पर सरसो तेल लगाने से हमारा पाचन तंत्र भी मजबूत होता है.

नाभि में कैस्टर ऑयल लगाने के फायदे

अरंडी का तेल (कैस्टर ऑयल ) बाल शाफ्ट की बाहरी परत में प्रवेश करता है। जोड़ा regrowth और कम बालों का झड़ना आपके बालों को घना और मजबूत बनाता है।

एक प्राकृतिक कंडीशनर है

जैसा कि हमने ऊपर बताया, तेल बालों की बाहरी परत में घुस जाता है और केराटिन के किसी भी क्षतिग्रस्त स्थानों में भर जाता है। यह प्रक्रिया, अपने आप से, बाल क्यूटिकल्स को पुनर्स्थापित करके बालों को चिकना करती है। यह नमी के नुकसान के लिए शाफ्ट को कम प्रवण बनाता है।

बालों को काला करता है

कैस्टर ऑयल आपको प्राकृतिक रूप से समृद्ध और गहरे बालों को प्राप्त करने में मदद कर सकता है। अरंडी के तेल का विनम्र प्रभाव आपके बालों को आवश्यक नमी बनाए रखने में सक्षम बनाता है, जिससे उनकी छाया बढ़ जाती है।

बालों को नुकसान से बचाता है

कैस्टर ऑयल में मौजूद फैटी एसिड आपके बालों पर एक सुरक्षात्मक परत बनाते हैं और इसे सूरज की क्षति और रंग के नुकसान से बचाते हैं। यह प्राकृतिक तेलों को फिर से भरता है और आपके स्कैल्प को रंगों और बालों के उत्पादों में मौजूद कठोर रसायनों से होने वाले नुकसान से बचाता है।

चमकदार बाल प्रदान करता है

जैसा कि पहले बताया गया है, अरंडी का तेल आपके बालों को शाफ्ट के साथ एक सुरक्षात्मक कोट प्रदान करता है। यह, बदले में, अधिक प्रकाश को दर्शाता है और आपके बालों को चिकना और चमकदार बनाता है। अधिक जानकारी जानने के लिया नीचे दिये गये वीडियो को बड़े ही ध्यान से देखे इसमे वह तमाम जानकारी दी गयी है जो आपको कास्टर आयल उसे करने के लिये प्रेरित करेगी |

बालों के झड़ने को नियंत्रित करता है

कैस्टर ऑयल में मौजूद रिकिनोइलिक एसिड आपकी खोपड़ी में रक्त परिसंचरण में सुधार करता है। यह, बदले में, कूप और खोपड़ी के स्वास्थ्य में सुधार करता है और बालों के झड़ने को कम करता है। यह आपकी खोपड़ी को पोषण देकर और रोगाणुओं से सुरक्षा प्रदान करके आपके बालों की जड़ों को मजबूत करता है।

Hair regrowth को प्रोत्साहित करता है

90% अरंडी के तेल की पोषण सामग्री ricinoleic एसिड से बनी होती है। यह ओमेगा -6 और 9 फैटी एसिड के साथ मिलकर, बाल शाफ्ट और जड़ों में प्रवेश करता है और इसे पोषण करता है, इसके इष्टतम स्वास्थ्य को बहाल करता है और बालों के विकास को बढ़ाता है।

डैंड्रफ का इलाज करता है

डैंड्रफ आमतौर पर एक अंतर्निहित समस्या जैसे तैलीय खोपड़ी या खुजली के कारण होता है। अरंडी के तेल के एंटीवायरल, जीवाणुरोधी और एंटिफंगल गुण इसे रूसी से लड़ने के लिए एक प्रभावी उपचार बनाते हैं। रिकिनोइलिक एसिड को खोपड़ी के पीएच को संतुलित करने के लिए भी जाना जाता है, जिससे यह स्वस्थ और रूसी के लिए प्रतिकूल वातावरण बन जाता है।

Split ends कम करता है

अरंडी का तेल बाल शाफ्ट में केराटिन के क्षतिग्रस्त अंतराल में भरता है। यह बालों की तन्यता को बढ़ाता है, जिससे यह विभाजन और टूटने की संभावना कम हो जाती है।

बादाम का तेल नाभि में लगाने के फायदे

बादाम का तेल :- नाभि में हर रोज बादाम का तेल लगाने से त्वचा की रंगत निखर जाती है. हर कोई चाहे महिला को या पुरुष दमकता हुआ चेहरा चाहते हैं, तो इसके लिए आप नियमित रूप से रात को सोने से पहले अपने बेली बटन में दो बूंद बादाम का तेल डालें.

सरसों का तेल

नाभि में सरसों के तेल के प्रयोग से घुटनों के दर्द और गठिया रोगों में भी राहत मिलती है. नाभि में सरसों के तेल की दो बूंदें नियमित सोने से पहले डालें, ऐसा करने से आपको जोड़ो में होने वाले दर्द की समस्या से निजात मिलता है.

नाभि में तिल का तेल लगाने के फायदे

तिल का तेल शरीर में बढ़े हुए वात दोष को शांत करने और अवरुद्ध कोशिकाओं को साफ करने में मदद करता है। यह सभी प्रकार के जोड़ों के दर्द और मांसपेशियों से संबंधित विकारों के उपचार में उपयोगी पाया जाता है। अगर आप वात दोष को दूर करना चाहते हैं, तो रात को सोते समय अपनी नाभि में तिल का तेल डालकर सोएं। इससे वात दोष से तुरंत राहत पाया जा सकता है।

नाभि में तेल लगाने के अन्य फायदे

नाभि में तेल लगाने से न सिर्फ जोड़ों का दर्द ठीक हो सकता है। बल्कि इससे कई अन्य परेशानियों को दूर किया जा सकता है। चलिए जानते हैं इस बारे में-

  1. नाभि में तेल डालने से चेहरे और बालों की सुंदरता बढ़ती है। यह ड्राई स्किन से परेशान लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है। नाभि में तेल लगाने से आपकी स्किन मॉइश्चराइज होती है। साथ ही आपके लिप्स भी फटते नहीं है। चेहरे से दाग-धब्बों और पिंपल्स को दूर करने के लिए अपने नाभि में नियमित रूप से तेल डालें। यह आपके लिए काफी असरकारी हो सकता है।
  2. नाभि में तेल डालने से नाभि में जमे बैड बैक्टीरिया से शरीर का बचाव किया जा सकता है। इससे आप कई तरह के इंफेक्शन से बच सकते हैं। इतना ही नहीं अगर आपके शरीर में कहीं घाव हो जाए, तो उसमें इंफेक्शन होने से बचाव करने में असरकारी होता है। ऐसे में अपने नाभि में तेल की कुछ बूंदें जरूर डालें।
  3. नाभि में तेल डालने से शरीर में होने वाले सूजन से राहत पा सकते हैं।
  4. नियमित रूप से नाभि में तेल डालने से प्रजनन क्षमता को बेहतर किया जा सतता है। इसके साथ ही इससे आपके शरीर का हार्मोंस संतुलित रहता है।
  5. पीरियड्स में दर्द होने पर अपने नाभि में तेल डालें। इससे आपके शरीर में होने वाली ऐंठन, दर्द और मरोड़ से राहत मिलेगा।
  6. नाभि में तेल डालने से पेट दर्द, गैस, अपच जैसी परेशानियों से भी राहत दिलाने में असरकारी होता है।
नाभि में तेल डालना आपके स्वास्थ्य के लिए कई मायनों में लाभकारी है। इसलिए रात को सोते समय अपने नाभि में 2 से 3 बूंदें तेल डालें। इससे आपकी कई सारी परेशानियां दूर होंगी।
Krish Bankhela

I am 23 years old, I have passed my master's degree and I do people, I like to join more people in my family and my grandmother, I am trying to learn new every day in Pau. And I also learn that I love to reach my knowledge to people

Previous Post Next Post